छात्रवृत्ति घोटाला : CBI ने मारा छापा, फर्जी निकला तीन कमरों का संस्थान, कब्जे में लिया रिकॉर्ड

1/22/2020 10:53:29 AM

ऊना (ब्यूरो) : 250 करोड़ के बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले में सीबीआई ने अब ऊना के एक और शैक्षणिक संस्थान पर छापा मारा। छानबीन में पाया गया कि बीए, बीकॉम, इंजीनियरिंग समेत कई डिग्री-डिप्लोमा कराने वाला संस्थान मात्र तीन कमरों में चल रहा है, वह भी बिना मान्यता के। इस संस्थान के बाहर शिमला के नाइनेट इंस्टीट्यूट का बोर्ड लगाया गया था जिसे सीबीआई की टीम ने उखाड़ लिया है। इसके अलावा टीम ने छात्रवृत्ति घोटाले से जुड़े कई दस्तावेज भी जब्त किए हैं। संस्थान के संचालक और स्टाफ को लंबी पूछताछ के बाद सीबीआई के शिमला कार्यालय में तलब किया है। इस संस्थान पर वर्ष 2013-14 से 2016-17 के बीच चार सत्रों में 1,44,81,006 रुपये की छात्रवृत्ति को गलत तरीके से हासिल करने के आरोप हैं। सीबीआई टीम यहां पिछले दो दिनों से डटी हुई है।

छात्रवृत्ति घोटाले में सीबीआई ने जिन छात्रों से पूछताछ की है, उन्होंने ऐसे चौंकाने वाले खुलासे किए हैं कि जिला मुख्यालय समेत कई जिलों में इस शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान की कार्यप्रणाली पर बड़ा सवाल खड़ा हो गया है। कैसे तीन कमरों में इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ-साथ कई कोर्स चल रहे थे। बीए के अलावा बीकॉम और कंप्यूटर एजुकेशन से जुड़े कई कोर्स भी साथ करवाए गए हैं। वर्ष 2013 के बाद ही यह पूरा गोलमाल हुआ है। छात्रों को यह तक जानकारी नहीं है कि वे संस्थान के रिकाॅर्ड में इंजीनियर तक बन चुके हैं। कई छात्रों की बीए और बीकॉम की डिग्री दी जा चुकी हैं।


Edited By

Simpy Khanna

Related News