कुलदीप सिंह राठौर के गृह जिले में सुखविंदर सिंह सुखू ने पिलाई सियासी चाय

10/17/2020 10:44:47 PM

शिमला: हिमाचल प्रदेश कांग्रेस में पार्टी के अंदर चल रही गुटबाजी कम होने के बजाय बढ़ती हुई नजर आ रही है। पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुखू के शिमला विधायक सदन मैट्रोपोल निवास में शिमला जिले के कुछ नेताओं से चाय के बहाने सियासी चर्चा हुई। जिसमें पूर्व सीपीएस रोहित ठाकुर, पूर्व विधायक हरभजन सिंह भज्जी, सोहन लाल, सुभाष मंगलेट और 2017 के चुनावों में ठियोग विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी रहे दीपक राठौर मौजूद रहे। चाय पर चर्चा का मुख्य एजैंडा पंचायत चुनाव बताया गया लेकिन पंचायत चुनाव के बहाने पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुखू ने अपनी सियासी ताकत दिखाने की कोशिश भी की।

PunjabKesari

पंचायत चुनावों को लेकर बनी रणनीति
शिमला जिला के कुछ नेताओं के साथ हुई मीटिंग में आगामी पंचायत चुनाव में कांग्रेस पार्टी के समर्थित प्रत्याशियों को जीत दिलाने को लेकर भी रणनीति तैयार की गई। ताकि कांग्रेस को 2022 विधानसभा चुनावों के लिए भी मजबूत किया जा सके। आने वाले दिनों में अन्य जिलों के कांग्रेस नेताओं के साथ भी इसी तरह की मीटिंग करने को लेकर भी सहमति बनी है।

चाय के बहाने सुखू का सियासी निशाना
प्रदेश कांग्रेस पार्टी में लगातार गुटबाजी देखने को मिल रही है और गुपचुप बैठकों का दौर भी जारी है। सूत्रों के अनुसार शिमला में हुई इस बैठक में इस तरह की बैठकें जिला स्तर पर भी बुलाए जाने की मांग नेताओं द्वारा की गई। उनका तर्क था कि कई नेता, पदाधिकारी व कार्यकर्ता अपने आप को वर्तमान में उपेक्षित महसूस कर रहे हैं। इसलिए नेता कांग्रेस छोड़कर दूसरी पार्टी में न जाएं व संगठन के साथ ही बने रहें। इसलिए ऐसे नेताओं की बैठक जिला स्तर पर आयोजित की जाए।

अन्य जिलों के नेताओं से भी जल्द मीटिंग करने की तैयारी, गुटबाजी खुलकर आई सामने
जानकारों का मानना है कि इस तरह की समानांतर बैठकें कर संगठन में गुटबाजी और हावी होगी। कुछ माह पहले पूर्व प्रदेश अध्यक्षों सुखविंदर सिंह सुखू व कौल सिंह ठाकुर की अध्यक्षता में भी इस तरह की बैठकें शिमला व मंडी में हुई थीं। इसके बाद कांग्रेस के हिमाचल प्रभारी राजीव शुक्ला ने कांग्रेस नेताओं को एकजुटता की नसीहत दी थी। लेकिन इसके बाद मंडी के किसान सम्मेलन में भी गुटबाजी सामने आई थी और अब शिमला प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर के गृह जिले में पार्टी नेताओं की बैठक से पार्टी के अंदर की गुटबाजी को और हवा मिली है और वर्तमान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष से चल रही नाराजगी भी सामने आई है।


Kuldeep

Related News