पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय डरोह में 24 पुलिसकर्मी कोविड-19 संक्रमित

9/28/2020 9:04:24 PM

डरोह (अजय): पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय डरोह में 24 कोविड-19 संक्रमण के मामले सामने आए हैं। इनमें 2 प्रशिक्षक तथा शेष प्रशिक्षु बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री के मनाली प्रवास के दृष्टिगत इन लोगों की ड्यूटी लगाई गई थी, जिसके चलते इन सभी के रैपिड टैस्ट करवाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग की 9 टीमों ने एक ही दिन में 596 सैंपल लिए जिनमें से 24 पॉजिटिव पाए गए हैं। एक साथ बड़ी संख्या में मामले सामने आने के बाद अब इन सभी लोगों के संपर्क में आने वाले लोगों की लाइन लिस्टिंग की जा रही है ताकि प्राइमरी कांटैक्ट्स का पता लगाया जा सके। इसके पश्चात प्राइमरी कांटैक्ट के मंगलवार को सैंपल लिए जाएंगे। उधर, मामले सामने आने के बाद पीटीसी डरोह परिसर में कुछेक स्थानों पर सैनिटाइजेशन का कार्य भी किया जा रहा है, वहीं इन जवानों को आइसोलेशन में रखा गया है। सरकारी दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रधानमंत्री दौरे में ड्यूटी देने जा रहे कर्मचारियों के कोविड-19 टैस्ट होने थे। इसके लिए पीटीसी प्रशासन द्वारा पीटीसी में ही रैपिड टैस्ट सुविधा उपलब्ध करवाई थी ।

जानकारी अनुसार वर्तमान में पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय में 650 प्रशिक्षु आरक्षी, सी.टी.एस. कोर्स करने के लिए 15 तथा 28 परिवीक्षाधीन उप निरीक्षक प्रशिक्षण ले रहे हैं। लगभग 80 प्रशिक्षक पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय में कार्यरत हैं। अनेक कर्मचारियों के परिवार भी पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय के आवासीय परिसर में रह रहे हैं। कोविड-19 के दृष्टिगत यद्यपि पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय प्रशासन ने लॉकडाऊन के दौरान पूर्णता सावधानी बरती तथा किसी भी बाहरी व्यक्ति को परिसर के अंदर आने की मनाही थी।

12 सितम्बर को आयोजित किया गया था दीक्षांत समारोह
12 सितम्बर को 3 परिवीक्षाधीन डी.एस.पी. तथा 15 उपनिरीक्षकों के प्रशिक्षण पूरे होने पर दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया था, जिसमें मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भाग लिया था। इस दौरान बड़ी संख्या में अन्य लोग तथा अभिभावक भी पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय परिसर पहुंचे थे। इस घटना के 16 दिन पश्चात 24 मामले कोविड-19 संक्रमण के सामने आए हैं।

सभी एसिंप्टोमैटिक
कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए सभी कर्मचारी एसिंप्टोमैटिक पाए गए हैं तथा इनमें किसी प्रकार का कोई लक्षण सामने नहीं आया है। कोविड-19 संक्रमित पाए गए कर्मचारियों में एक 51 वर्ष तथा दूसरा 57 वर्ष का है जबकि शेष 22 प्रशिक्षु 20 वर्ष से लेकर 28 वर्ष की आयु तक के हैं। प्रदेश में एक दिन में 596 सैंपल की जांच अब तक की संभवता सबसे बड़ी संख्या है।

खंड चिकित्सा अधिकारी भवारना डा. मीनाक्षी गुप्ता का कहना है कि पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय प्रशासन के आग्रह पर कर्मचारियों के रैपिड एंटीजन टैस्ट किए गए। कुल 596 कर्मचारियों के टैस्ट किए गए जिनमें से 24 कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग की 9 टीमें इस कार्य में जुटी रहीं तथा एक ही दिन में रिकॉर्ड 596 सैंपल की जांच की गई। मंगलवार को भी सैंपल एकत्रित कर जांच किए जाएंगे। इन लोगों के प्राइमरी कांटैक्ट में आने वाले लोगों की पहचान की जा रही है तथा मंगलवार को उनके सैंपल लिए जाएंगे।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. गुरदर्शन दास गुप्ता का कहना है कि सरकार के दिशा-निर्देश हैं कि प्रधानमंत्री दौरे के दौरान जिनकी भी ड्यूटी लगाई जानी है उनके पास कोविड-19 जांच रिपोर्ट होनी आवश्यक है। पी.टी.सी. डरोह प्रशासन की ओर से इस संबंध में आग्रह प्राप्त हुआ था जिसके बाद बड़े स्तर पर जांच की गई।


Kuldeep

Related News