चम्बा चौगान इस दिन से बच्चों की आवाजाही वर्जित, डी.सी. ने जारी किए आदेश

7/17/2021 4:26:14 PM

चम्बा (काकू चौगान): अगर कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए कारगर नियमों का पालन नहीं करेंगे तो यह बीमारी फिर एक भयानक रूप ले सकती है। सरकार ने कोरोना की पाबंदियों में ढील इसलिए दी है कि आमजन की गतिविधियां प्रभावित ना हो। यह बात डी.सी. दुनी चंद राणा ने कही। उन्होंने कहा कि  18 वर्ष से कम आयु वर्ग के युवाओं व बच्चों का कोरोना प्रतिरोधी टीकाकरण नहीं हुआ है। विशेषकर हमें बच्चों के प्रति ज्यादा सावधान होने की आवश्यकता है, लेकिन कुछ लोग कोरोना के खतरे को ना भांपते हुए बिना किसी कारण बाहर घूम रहे हैं। बच्चों को भी अपने साथ ले जा रहे हैं यह स्थिति भयानकता पैदा कर सकती है। लोग बच्चों को चम्बा चौगान में भी भेज रहे हैं, कोई भी संक्रमित व्यक्ति चौगान में हो सकता है जिससे बच्चों में संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है।

इन  परिस्थितियों को देखते हुए सोमवार से चम्बा चौगान में 18 वर्ष से कम आयु वर्ग के लोगों का विशेषकर बच्चों का प्रवेश वर्जित कर दिया है। इसकी कड़ाई से अनु पालना सुनिश्चित बनाने के लिए पुलिस विभाग को आदेश  जारी कर दिए गए हैं। उल्लंघन की सूरत में आपदा प्रबंधन एक्ट के तहत कार्यवाही की जाएगी। इसके साथ ही सार्वजनिक स्थलों पर यदि कोई बिना मास्क घूमता हुआ पाया जाता है या किसी दुकान पर लोगों की भीड़ लगी देखी जाती है तो ऐसी स्थिति में प्रशासन द्वारा सख्ती से कार्यवाही कर चालान किए जाएंगे व संबंधित दुकान को सील किया जाएगा। डी.सी. ने जिलावासियों से विशेष आग्रह किया है कि अगर बेहद आवश्यक है तभी ही घर से बाहर निकलें और कोविड संक्रमण के प्रति जारी दिशा-निर्देशों का पूर्णता पालन करें।

बिना मास्क पहने घर से बाहर ना निकले, 2 गज की दूरी बनाकर रखें, हाथों को सैनिटाइज करते रहे व साबुन से भी हाथ धोते रहें। अपने आपको तथा अपने प्रियजनों को वह अन्य लोगों को भी कोरोना संक्रमण से बचाएं। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से हमारी लड़ाई अभी जारी है। कोरोना वायरस अभी खत्म नहीं हुआ है। जिला में लोग अभी भी कोरोना वायरस से संक्रमित  हो रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से चम्बा चौगान में लोगों की काफी भीड़ उमड़ रही है। कुछ लोग जहां बिना मास्क घूम रहे हैं, वहीं फिजिकल डिस्टैंसिंग का भी पालन नहीं कर रहे हैं। ऐसे लोगों को लगता है कि कोरोना समाप्त हो गया है और हम 2020 से पहले जैसी स्थिति में आ गए हैं, लेकिन अभी इसका खतरा टला नहीं है। तीसरी लहर की संभावना जताई जा रही है और यह लहर लोगों की लापरवाही से ही आएगी।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Kaku Chauhan

Recommended News

static