चपड़ासी की संलिप्तता के बाद अब एक दर्जन अधिकारी व कर्मी पुलिस की राडार पर

punjabkesari.in Monday, Feb 26, 2024 - 09:50 PM (IST)

शिमला (संतोष): राज्य सचिवालय में फर्जी हस्ताक्षर करके क्लर्क व चपड़ासी की नौकरी के मामले के उजागर होने के बाद इसमें सामने आई चपड़ासी की संलिप्तता के उपरांत अब सचिवालय के एक दर्जन अधिकारी व कर्मी पुलिस की राडार पर हैं। पुलिस द्वारा इस मामले में मुख्यारोपी परीक्षित आजाद सहित 6 आरोपियों को सोमवार को अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। पुलिस इस मामले की तह तक जाने के लिए ऐड़ी-चोटी का जोर लगा रही है और फोरैंसिक की भी राय ली जा रही है।

पुलिस जांच में सामने आया है कि मुख्यारोपी परीक्षित आजाद सचिवालय में लंबे समय से आता-जाता रहता था और यहीं पर युवाओं को नौकरी दिलाने का झांसा देकर उनसे पैसों की ठगी भी करता था। पुलिस अपनी जांच को आगे बढ़ाते हुए इसमें कई अधिकारियों व कर्मियों से पूछताछ करेगी और संलिप्तता पाए जाने पर गिरफ्तार भी करेगी। इस मामले के सामने आने के बाद कई अधिकारियों व कर्मचारियों के हाथ-पांव फूलने लगे हैं और पहले हुईं भर्तियां भी पुलिस की जांच के घेरे में आ गई हैं। पुलिस इनके पास से जब्त किए गए प्रिंटर, लैपटॉप, मोबाइल, लैटरपैड, लिफाफे व डायरी सहित अन्य दस्तावेजों की भी जांच में जुटी हुई है और फोरैंसिक टीम की भी इसमें राय ली जा रही है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Kuldeep

Recommended News

Related News