22 अक्तूबर को फि र बदलेगा मौसम, बारिश-बर्फ बारी का अलर्ट

10/19/2021 8:42:47 PM

शिमला (राजेश): हिमाचल में 2 दिन झमाझम बारिश और उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में हिमपात के बाद मंगलवार को प्रदेशभर में धूप खिली रही और मौसम सुहावना रहा। धूप खिलने से मध्यम पर्वतीय क्षेत्रों में सर्दी के प्रभाव में कमी आई है और जनजातीय क्षेत्रों में बर्फबारी से अवरुद्ध सड़कों को बहाल करने में तेजी आई। वहीं लाहौल-स्पीति जिले में बर्फबारी के बाद जनजीवन पटरी से उतर गया था और रास्ते बंद होने के कारण कई पर्यटकों के वाहन फंस गए थे। मौसम खुलने पर सेना व स्थानीय प्रशासन ने फंसे हुए अधिकांश पर्यटकों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है।

मौसम विभाग के शिमला केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के चलते आगामी 22 अक्तूबर से मौसम के फिर बिगडऩे की संभावना है। मौसम विभाग के निदेशक सुरेंद्र पाल ने बताया कि आगामी 2 दिन प्रदेशभर में मौसम साफ  रहेगा, लेकिन 22 व 23 अक्तूबर को प्रदेश में एक बार फि र बारिश व बर्फ बारी होने का अनुमान है। 23 अक्तूबर को मैदानी व मध्यपर्वतीय क्षेत्रों के लिए गरज के साथ बारिश का यैलो अलर्ट जारी किया गया है। बारिश-बर्फबारी होने से प्रदेश में ठंड का प्रभाव फिर बढ़ जाएगा।

हंसा में 38 सैंटीमीटर बर्फबारी दर्ज
विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान हंसा में 38 सैंटीमीटर बर्फ बारी दर्ज की गई। इसके अलावा कोकसर में 15, सुमदो 13 और गोंडला 8 सैंटीमीटर हिमपात हुआ है, वहीं सांगला में 66 मि.मी., रिकांगपिओ 54, कल्पा 50, सराहन 26, रामपुर व ङ्क्षतदर 25-25, मनाली व खदराला 24-24, रोहड़ू 23, नारकंडा 22, बंजार व कुमारसैन 20-20, कोठी  19, कोटखाई व बजुआरा 17-17, शिवबाग व भुंतर 17-17 और केलांग में 14 मि.मी. बारिश हुई है।

यह रहा न्यूनतम तापमान
बर्फबारी के कारण लाहौल-स्पीति के केलांग में न्यूनतम तापमान -1.3 डिग्री दर्ज किया गया और यह प्रदेश में सबसे ठंडा स्थल रहा। इसके अलावा किन्नौर के कल्पा में न्यूनतम तापमान 1.4 डिग्री, शिमला में 11.2, सुंदरनगर 9.3, भुंतर 8.1, धर्मशाला 15, ऊना में 16.5, नाहन 16.7, पालमपुर 12.3, सोलन 9.4, मनाली 4.8, कांगड़ा 14.2, मंडी 11.6, बिलासपुर 14, हमीरपुर 13.1, चंबा 12.3, डल्हौजी 10.7, कुफरी 8, और पांवटा साहिब में 18 डिग्री रहा।

18 सड़कें दूसरे दिन भी बंद
प्रदेश में 18 सड़कें मंगलवार को दूसरे दिन भी बंद रहीं। इनमें ज्यादातर सड़कें लाहौल-स्पीति की अवरुद्ध हैं। पी.डब्ल्यू.डी. की मानें तो सभी सड़कों को बहाल करने का काम युद्धस्तर पर जारी है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Kuldeep

Related News

Recommended News