3 छात्र नेताओं के निष्कासन पर NSUI उग्र, HPU में कुलपति कार्यालय के बाहर किया प्रदर्शन

punjabkesari.in Friday, Jan 14, 2022 - 05:56 PM (IST)

निष्कासन के आदेशों को तुरंत वापस न लिया तो प्रदेश भर मेें होंगे प्रदर्शन : छत्तर सिंह
शिमला (अभिषेक):
हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (एचपीयू) से 3 छात्र नेताओं को निष्कासित किए जाने के विरोध में एनएसयूआई ने शुक्रवार को कुलपति कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के माध्यम से एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने विश्वविद्यालय प्रशासन ने संगठन के 3 छात्र नेताओं का निष्कासन वापस लेने की मांग की। प्रदर्शन के समय विश्वविद्यालय परिसर में प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए थे और कुलपति कार्यालय का गेट भी बंद रखा गया। इसके अलावा कुलपति कार्यालय के बाहर सुरक्षा कर्मी भी तैनात रहे।

एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष छत्तर सिंह ठाकुर ने कहा कि एनएसयूआई के छात्र नेता विश्वविद्यालय के कुलपति को विद्यार्थी हित से जुड़ी मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपने गए थे और इसके बाद बिना किसी कारण बताओ नोटिस के विश्वविद्यालय प्रशासन ने इन 3 छात्र नेताओं को विश्वविद्यालय से निष्कासित करने के आदेश जारी कर दिए, जिसका एनएसयूआई विरोध करती है। उन्होंने कहा कि यह कार्रवाई साफ तौर पर एकतरफा कार्रवाई है। उन्होंने कहा कि बीते दिनों पूर्व विश्वविद्यालय में 2 छात्र गुटों के बीच हिंसक झड़प हुई थी और एसएफआई और विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे पर दराट, डंडे और रॉड से हमला किया था, लेकिन इस मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन ने कोई कार्रवाई नहीं की है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय अगर निष्कासन के आदेशों को तुरंत वापस नहीं लेता है तो प्रदेश भर में प्रदर्शन किए जाएंगे।

इस दौरान एनएसयूआई के विश्वविद्यालय इकाई अध्यक्ष रजत भारद्वाज व संगठन महासचिव मनोज चौहान ने कहा कि विश्वविद्यालय के होस्टल व लाइब्रेरी खुली रखी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि होस्टलों में अभी भी 100 से अधिक विद्यार्थी रुके हुए हैं और इन विद्यार्थियों के हितों को ध्यान में रखते हुए और प्रदेश के दुर्गम क्षेत्रों में बर्फबारी के बाद रास्ते बंद होने की स्थिति को देखते हुए इन्हें होस्टलों मेें रुकने की अनुमति मिलनी चाहिए।

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Related News

Recommended News