हिमाचल में कोरोना के 17 संदिग्ध मामलों की नैगेटिव आई रिपोर्ट : जयराम

3/29/2020 10:31:56 PM

शिमला (योगराज): कोविड-19 वायरस के लिए रविवार को टांडा मेडिकल कॉलेज में 12 और आईजीएमसी शिमला में 5 संदिग्धों के सैम्पल लिए गए। इन सभी 17 मामलों की रिपोर्ट नैगेटिव आई है। कोविड-19 वायरस को लेकर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित एक बैठक में यह जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में अभी तक 2673 लोगों को निगरानी में रखा गया है जिनमें से 811 लोगों ने 28 दिनों की आवश्यक निगरानी अवधि पूरी कर ली है। उन्होंने कहा कि राज्य में अभी तक 196 लोगों की स्वास्थ्य जांच की जा चुकी है।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए भारत सरकार के निर्देशों पर सख्ती से अमल किया जाए और सीमावर्ती क्षेत्रों में भोजन और ठहरने की सुविधा के पुख्ता इंतजाम किए जाएं ताकि अन्य राज्यों से आने वाले लोगों से प्रदेश में इस वायरस का संक्रमण न फैल पाए। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के बारे में लोगों को नियमित रूप से जानकारी प्रदान की जानी चाहिए और यह भी सुनिश्चित बनाए जाए कि आवश्यक वस्तुओं की कहीं भी कमी न हो। इस रोग से बचाव के लिए सामाजिक दूरी बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए लोगों को अनावश्यक रूप से अपने घरों से बाहर नहीं निकलना चाहिए। उन्होंने प्रदेश की जनता से अनुरोध किया है कि इस वायरस से बचाव की दिशा में प्रदेश सरकार के प्रयासों में अपना सहयोग दें।

स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान ने कहा कि मैसर्ज इन्नोवा कैपटैब लिमिटेड बद्दी के मनोज अग्रवाल ने स्वास्थ्य विभाग को हाईड्रॉक्सी क्लोरोक्विन की 1,50,000 गोलियां दान की हैं। चंडीगढ़ डिस्टीलर्स बॉटलर्स लिमिटेड के अध्यक्ष ने 700 लीटर हैंड सैनेटाईजर जबकि एचडीएमए ने विभाग को हैंड सैनेटाइजर की 4500 बोतलें भेंट की हैं। उन्होंने इस योगदान के लिए सभी का आभार व्यक्त किया। बैठक में मुख्य सचिव अनिल कुमार खाची, अतिरिक्त मुख्य सचिव मनोज कुमार, पुलिस महानिदेशक एसआर मरड़ी, सचिव रजनीश और सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के निदेशक हरबंस सिंह ब्रसकोन भी उपस्थित रहे।


Vijay

Related News