BJP के 4 औहदों से त्यागपत्र देकर 16 परिवारों के साथ कांग्रेस में शामिल हुए नरेश जसवाल, जानिए क्या कहा

2021-06-16T16:26:43.127

हमीरपुर (ब्यूराे): 40 वर्षाें से भाजपा की जड़ों को सींच रहे एडवोकेट नरेश जसवाल ने बुधवार को प्रदेश भाजपा अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के सचिव, भाजपा विधि प्रकोष्ठ हमीरपुर जिला के संयोजक, भाजपा ग्राम केंद्र के पालक एवं पन्ना प्रमुख के सभी औहदों से त्यागपत्र देकर 16 परिवारों के साथ कांग्रेस पार्टी की विधिवत रूप से सदस्यता ग्रहण कर ली। सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा ने उनका पार्टी में स्वागत करते हुए पार्टी का पटका पहनाकर सम्मानित किया। सदस्यता ग्रहण करने के बाद नरेश जसवाल ने कहा कि जिस घर में मान-सम्मान न हो, उसे छोड़ना ही बेहतर है।

वर्ष 1981 में उन्होंने स्वर्गीय जगदेव चंद ठाकुर के सान्निध्य में भाजपा ज्वाइन की थी। इतने लंबे अर्से में संगठन में विभिन्न पदों पर कार्य किया तथा पार्टी को मजबूत आधार दिया लेकिन बदले में अनदेखी व उपेक्षा ही मिली। उन्होंने जिला से भाजपा के एक बड़े परिवार पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके जैसे कार्यकर्ताओं के दम पर नेता तो करोड़पति बन गए लेकिन उन्हें रोड़पति बना दिया।

उन्होंने कहा कि 40 वर्ष पार्टी की नि:स्वार्थ भाव से सेवा करने के बदले चुप रहने की नसीहत मिलती रही। उन्होंने कहा कि 128 बार उन्होंने विभिन्न टैस्ट क्लीयर किए लेकिन अपनी सरकार होते हुए भी उनकी अनदेखी कर दूसरों को गले लगाया गया। नरेश जसवाल ने कहा कि अभी आगाज हुआ है तथा कोविड महामारी के बाद सैंकड़ों परिवारों का काफिला कांग्रेस में आने के लिए तैयार बैठा है।

उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस पार्टी की विचारधारा व उनकी नीतियों के साथ विधायक राजेंद्र राणा की समाजसेवी छवि व बिना भेदभाव के हर व्यक्ति का काम करने की उनकी कार्यशैली से प्रभावित होकर कांग्रेस में आए हैं। विधायक राजेंद्र राणा ऐसे व्यक्ति हैं, जिन्होंने बिना पार्टीबाजी के भी उनके माता-पिता के बीमार होने पर न केवल कुशलक्षेम पूछा अपितु हरसंभव मदद भी की लेकिन दुख है कि जिस पार्टी व  नेताओं को अपना समझा, उन्होंने हालचाल जानने की बजाय पीठ में छुरा घोंपने का ही काम किया। इस अवसर पर उनके साथ सूबेदार धर्म सिंह, दीनानाथ, राजकुमार, सतीश कुमार, जीत सिंह, प्रेम प्रकाश, अजय कुमार, प्रकाश चंद, एडवोकेट पवन कुमार, रवि दत्त, जगदीश चंद, रतन चंद, राज कुमार, रसीला राम व यशपाल भी कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए।

बता दें कि सुजानपुर विस क्षेत्र से कर्मठ व जुझारू कार्यकर्ताओं का भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने का सिलसिला लगातार जारी है तथा नरेश जसवाल का कांग्रेस में शामिल होने से भाजपा को तगड़ा झटका लगा है। नरेश जसवाल इससे पहले भाजपा एससी मोर्चा सैल के जिलाध्यक्ष भी रह चुके हैं तथा उनकी ईमानदार छवि व मिलनसार प्रवृत्ति के कारण जिला के पांचों विस क्षेत्रों में उनकी गहरी पकड़ है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Recommended News

static