हिमाचल में सुबह 7 से दोपहर 1 बजे तक होगी कर्फ्यू में ढील : जयराम

3/26/2020 8:48:29 PM

शिमला (योगराज): कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए हिमाचल प्रदेश में लगाए गए कर्फ्यू में सुबह 7 से दोपहर 1 बजे तक ढील देने का निर्णय लिया है। राज्य सरकार की तरफ से इसकी घोषणा देर सायं की गई। इससे पहले मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश के सभी जिलाधीशों और पुलिस अधीक्षकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रैंस के माध्यम से हालातों का जायजा लिया, साथ ही उन्होंने प्रदेश में खाद्य वस्तुओं की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए उच्च अधिकारियों के साथ अलग से भी बैठक की। मुख्यमंत्री ने इस दौरान कहा कि कर्फ्यू में ढील के दौरान लोगों की भीड़ को एकत्र न होने दें। उन्होंने इसके लिए जिला स्तर पर सभी एहतियाती पग उठाने को कहा है।

बाहरी राज्य से आवश्यक सामग्री लाने वाले वाहनों को न रोकें

उन्होंने ये भी निर्देश दिए कि बाहरी राज्य से आवश्यक सामग्री लेकर आने वाले वाहनों को न रोका जाए। ऐसा करने से राज्य में आवश्यक सामग्री की उपलब्धता समाप्त हो सकती है। उन्होंने कहा कि लोगों को आवश्यक वस्तुओं की किसी प्रकार की कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि संबंधित जिला खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति नियंत्रक को यह निश्चित करना चाहिए कि आटा मिलें गेहूं पिसाई के लिए निर्बाध आपूर्ति जारी रखें। उन्होंने कि निगम की दवा दुकानों में दवाइयों की पर्याप्त उपलब्धता भी सुनिश्चित बनाई जाने और उपभोक्ताओं के घरों को एलपीजी की पर्याप्त आपूर्ति करने के भी निर्देश दिए।

प्रदेश में कितने खाद्यान भंडार उपलब्ध

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि भारतीय खाद्य निगम के भंडारों में गेहूं और चावल के पर्याप्त भंडार हैं। हिमाचल प्रदेश में भी गेहूं, आटा व चावल के पर्याप्त भंडार के साथ-साथ 1200 मीट्रिक टन से अधिक नमक और 4000 मीट्रिक टन से अधिक चीनी का भंडार है। इसी तरह चना और मसूर सहित दालों का भी पर्याप्त स्टॉक है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को अन्य राज्यों से दालों की प्रभावी आपूर्ति सुनिश्चित बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिले में नागरिक आपूर्ति निगम के 1,500 मीट्रिक टन के भंडारण क्षमता वाले चैतड़ू और सिद्धपुर भंडारों, जिनका उद्घाटन होना बाकी है, उनका इस्तेमाल 350 से 400 मीट्रिक टन दालों और अन्य आवश्यक वस्तुओं के भंडारण के लिए किया जाए। मुख्यमंत्री जने कोरोना वायरस से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए राज्यों को 1.70 लाख करोड़ रुपए का पैकेज देने के लिए आभार जताया।

एनएफएसए परिवारों को एक साथ मिलेगा कोटा

प्रदेश में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) परिवारों को अपै्रल व मई माह के खाद्यान्नों का कोटा एक साथ अप्रैल माह में वितरित किया जाएगा। इसे उचित मूल्य की दुकानों से प्राथमिकता के आधार पर वितरित किया जाएगा, जिसके लिए सभी जिला नियंत्रकों को निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा यदि किसी उपभोक्ता को खाद्यान्नों और पैट्रोलियम पदार्थों जैसे कि डीजल, पैट्रोल और रसोई गैस से संबंधित शिकायत या सुझाव है, तो वे इसे 1967 पर दे सकते हैं।

वीडियो कॉन्फ्रैंस से जुड़े हर्षवर्धन

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन ने सभी प्रदेशों के साथ वीडियो कॉन्फ्रैंस के माध्यम से कोरोना वायरस की स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि स्थिति से निपटने के लिए केंद्र सरकार हर तरह की मदद के लिए तैयार है। उन्होंने इसके लिए राज्य सरकारों से भी अपेक्षित सहयोग की अपील की।


Vijay

Related News