हिमाचल में कोरोना के मामले बढ़ना चिंता का विषय, स्थिति के अनुसार बढ़ाई जाएंगी बंदिशें : राजीव सहजल

punjabkesari.in Thursday, Jan 20, 2022 - 06:53 PM (IST)

हिमाचल में 10 दिनों में 5 गुना बढ़े कोविड एक्टिव केस, कोविड से बचने के लिए पाबंदी लगाना समाधान नहीं
शिमला (रेशमा कश्यप):
हिमाचल में पिछले 10 दिनों में कोविड के एक्टिव मामलों में 5 गुना वृद्धि हुई है। 8 जनवरी से सक्रिय मामलों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. राजीव सहजल ने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत करते हुए कहा कि प्रदेश में कोविड के मामले बढ़ना चिंता का विषय है। अभी कोविड से बचने के लिए पाबंदी लगाना समाधान नहीं है बल्कि सावधानी बरतना समाधान है। तीसरी लहर में कोरोना के लक्षणों की तीव्रता कम है, ऐसे में मरीज अस्पताल में तो जा रहे हैं लेकिन कम जा रहे हैं। पाबंदी इसलिए भी नहीं लगाई जा रही है कि लोगों की रोजी-रोटी पर इसका काफी ज्यादा फर्क पड़ता है। ऐसे भी कुछ लोग हैं जोकि दिहाड़ी पर निर्भर हैं। अगर लोग सावधानी बरतें तो पाबंदियां लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। अगर स्थिति बिगड़ती तो उस हिसाब से बंदिशें बढ़ाई जाएंगी।

घबराएं नहीं, कोविड उपयुक्त व्यवहारों का करें पालन

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड पॉजिटिव रोगियों के प्रवेश की संख्या में भी वृद्धि हुई है। 10 दिनों की अवधि में बैड ऑक्यूपैंसी भी लगभग 5 गुना बढ़ गई है। 8 जनवरी को कुल 51 बिस्तरों पर कोविड पॉजिटिव मरीज थे, जिनमें से 31 मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत थी और केवल 3 मरीजों को वैंटीलेटर की जरूरत थी। अभी तक एक्टिव मामलों में से 249 कोविड रोगियों को कोविड समर्पित संस्थानों में प्रवेश की आवश्यकता थी। अभी भर्ती हुए 249 मरीजों में से 132 मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत है और सिर्फ 2 मरीज वैंटीलेटर पर हैं बाकी 115 मरीज कमरे की हवा में स्वस्थ हैं। राज्य भर में कोविड पॉजिटिव मरीजों के दाखिले में वृद्धि हुई है लेकिन अधिकांश मरीज ऑक्सीजन के चालू या बंद रहने पर स्थिर हैं। कोविड पॉजिटिव रोगियों के कुल प्रवेश में से 0.9 प्रतिशत रोगियों को आईसीयू व वैंटीलेटर की आवश्यकता है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे घबराएं नहीं और कोविड उपयुक्त व्यवहारों का पालन करें, जैसे कि मास्क पहनना, सामाजिक दूरी बनाए रखना, बार-बार हाथ धोना या टीकाकरण की स्थिति के बावजूद सैनेटाइजर का उपयोग करना है।

नहीं निकाले जाएंगे पुराने एम्बुलैंस कर्मचारी

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में चलाई जा रहीं 108 व 102 एम्बुलैंस में जो पुराने कर्मचारी हैं, उन्हें नौकरी से नहीं निकाला जाएगा। कंपनी के साथ बात हो चुकी है। किसी भी पुराने कर्मचारी को नहीं निकाला जा रहा है। इसके अलावा स्वास्थ्य मंत्री ने एनएच के तहत जो कर्मचारी लगे हैं, उनके बारे में कहा कि जल्द ही इनके बारे में भी निर्णय लिया जाएगा। एनएचएम कर्मचारियों ने सरकार से स्थायी नीति बनाने की मांग की है।

अभी ओमिक्रॉन की जांच के लिए नहीं होगा केंद्र स्थापित

हिमाचल में अभी ओमिक्रॉन की जांच के लिए कोई केंद्र स्थापित नहीं होगा। केंद्र ने ओमिक्रॉन की जांच के लिए पूरे भारत में 10 के करीब केंद्र स्थापित किए हैं जहां पर ओमिक्रॉन के सैंपलों की जांंच की जा रही है। हिमाचल से सैंपल दिल्ली भेजे जा रहे हैं। आज ओमिक्रॉन के 8 और नए मामले सामने आए हैं। प्रदेश में अब ओमिक्रॉनपॉजिटिव लोगों की संख्या 15 हो गई है।

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Related News

Recommended News