पहले चिट्टा व चरस ने उजाड़े घर, अब जहरीली शराब लेने लगी लोगों की जान

punjabkesari.in Wednesday, Jan 19, 2022 - 11:33 PM (IST)

सलापड़ में आधा दर्जन परिवारों की जिंदगी हो गई बर्बाद
सुंदरनगर (अंसारी):
अभी तक चिट्टा और चरस कई घरों को उजाड़ रहे थे, वहीं अब सस्ती मिलने वाली जहरीली शराब ने हिमाचल में भी पांव जमा लिए हैं। चंडीगढ़ आदि क्षेत्रों से आने वाली यह जहरीली शराब सुंदरनगर के सलापड़ में आधा दर्जन परिवारों की जिंदगी को बर्बाद कर गई है। जहरीली शराब के कारण आज 5 परिवार प्रभावित हो गए हैं। इस जहरीली शराब ने 4 बेटियों के 40 वर्षीय पिता को छीन लिया, वहीं रीढ़ की हड्डी से पीड़ित पत्नी से परिवार में इकलौते कमाने वाला पति छिन गया। प्रभावितों का हाल-चाल पूछने आए विधायक से भी पीड़ितों ने कई खुलासे किए, तो विधायक ने भी कड़ी कार्रवाई का ऐलान कर दिया है। इस घटना के बाद स्थानीय लोगों ने भी कहना आरंभ कर दिया है कि नशे के कारोबारी रसूखदार और राजनीतिक पहुंच रखते हैं, ऐसे में कार्रवाई की उम्मीद की किरण साफ नहीं दिख रही है।  वहीं पुलिस ने भी आनन-फानन में 5 लोगों को हिरासत में लेकर 37 जहरीली शराब की पेटियां बरामद की हैं। 

पहले रोक लगाई होती तो आज नहीं होती यह हालत

इस जहरीली शराब ने ऐसा कहर बरपाया कि जिला प्रशासन तक की चूलें हिल उठीं, जबकि वर्षों से चले आ रहे इस धंधे पर रोक लगाने की ओर किसी ने काम नहीं किया और खाकी आंखें इस क्षेत्र में चश्मा लगाती घूमती रहीं। यदि समय रहते इस धंधे पर रोक लगाई होती तो आज 5 जिंदगियां गहरी सांस ले रही होतीं।

डैहर और कांगू के साथ लगती पंचायतों में हैं शराब माफिया के कई अड्डे

मंडी जिले की सीमा पर डैहर और कांगू के साथ लगती पंचायतों में शराब माफिया के कई अड्डे सक्रिय हैं। जड़ोल पंचायत के भवाणा क्षेत्र से लेकर कांगू, सलापड़ और डैहर के दायरे में माफिया की शराब खूब बिकती है। शॉर्टकट में बड़ी कमाई के लालच में शराब को खूब असरदार बनाने के लिए मिलावट की जाती है और यह कुछ चाय की दुकानों में पूरे जिले में खूब परोसी जाती रही है। 

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Related News

Recommended News