नाबार्ड से मंजूर सड़कों और पुलों के 36 प्रोजैक्ट ड्रॉप, जानिए क्या है वजह

10/15/2021 4:34:56 PM

शिमला (देवेंद्र) : हिमाचल प्रदेश में राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) द्वारा मंजूर 36 सड़क और पुल प्रोजैक्ट ड्रॉप किए गए हैं। प्रदेश की भाग्य रेखा मानी जाने वाली सड़कों के लिए बजट उपलब्ध होने के बावजूद सड़कों एवं पुलों के प्रोजैक्ट ड्रॉप होना सिस्टम पर सवालिया निशान खड़े करता है। सूचना के मुताबिक नाबार्ड के अंतर्गत कुछ प्रोजैक्ट एफसीए, कुछ एफआरए न मिलने तथा कुछेक प्रोजैक्ट जमीन को लेकर स्थानीय लोगों में विवाद के कारण भी ड्रॉप हुए हैं। ड्रॉप प्रोजैक्ट में सड़कों के 28 तथा पुलों के 8 प्रोजैक्ट शामिल हैं। 1996-97 से 2010-11 तक सड़कों के 17 प्रोजैक्ट और पुलों के 4 प्रोजैक्ट ड्रॉप हुए हैं। वर्ष 2011-12 में एक सड़क और 2 पुल, 2012-13 में एक सड़क व एक पुल, 2013-14 में 3 सड़कें, 2015-16 में 2 सड़कें, 2017-18 में एक सड़क, 2018-19 में 3 सड़कें व एक पुल, 2019-20 में एक सड़क व एक पुल का प्रोजैक्ट विभिन्न कारणों से ड्रॉप किया गया जबकि नाबार्ड ने इन सभी प्रोजैक्टों के लिए बजट मंजूर कर रखा था। इसलिए सवाल उठ रहे हैं कि सड़क एवं पुल की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट बनाने और इसे नाबार्ड को भेजने से पहले क्या आवश्यक औपचारिकताएं पूरी नहीं की गईं।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Related News

Recommended News