CM वीरभद्र ने बडूखर व शाहपुर को दिए करोड़ों के तोहफे

CM वीरभद्र ने बडूखर व शाहपुर को दिए करोड़ों के तोहफे

शाहपुर/बडूखर: कांगड़ा जिला की शिवालिक पहाडिय़ों के बीच ब्यास नदी पर बांध बनाकर बनाए गए जलाशय को महाराणा प्रताप सागर नाम दिया गया। इसे पौंग बांध के नाम से भी जाना जाता है। पौंग बांध स्थित महाराणा प्रताप की प्रतिमा का अनावरण मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह द्वारा शुक्रवार को किया गया। इस दौरान उन्होंने कहा कि महाराणा प्रताप को देश के सर्वश्रेष्ठ योद्धाओं में जाना जाता है, जिन्होंने मुगलों के खिलाफ लड़ाइयां लड़ीं व उनकी अधीनता स्वीकार नहीं की। इससे पहले पौंग बांध पहुंचने पर उन्हें पुलिस विभाग द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने रियाली (खबाजी) में बनने वाले पुल का शिलान्यास किया। वहीं कांगड़ा जिला के विधानसभा क्षेत्र शाहपुर में विभिन्न परियोजनाओं की घोषणाएं करने के साथ आधारशिलाएं भी रखीं। 

लंज स्कूल में 1.13 करोड़ से बनेगा अतिरिक्त खंड
मुख्यमंत्री ने लंज में 1.13 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के अतिरिक्त खंड व 3.75 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित होने वाली मोरछ-घड़घून सड़क तथा 2 पुलों की भी आधारशिलाएं रखीं। उन्होंने 3.71 करोड़ रुपए की लागत से मारा (लंज) में गज खड्ड पर निर्मित होने वाले वाहन योग्य पुल की भी आधारशिला रखी। मुख्यमंत्री ने जीका के अंतर्गत 24 लाख रुपए की लागत से निर्मित होने वाले सब्जी एकत्रण केंद्र की भी आधारशिला रखी। वहीं हि.प्र. राज्य वन निगम के उपाध्यक्ष केवल सिंह पठानिया ने मुख्यमंत्री से शाहपुर हलके की 4 सड़कों के निर्माण के लिए पैसा स्वीकृत करने की भी मांग रखी। इस मौके पर ऊर्जा मंत्री सुजान सिंह पठानिया, पूर्व सांसद चो. चंद्र कुमार, सुरेंद्र मनकोटिया, हि.प्र. राज्य औद्योगिक विकास निगम निदेशक मंडल के सदस्य ब्रिगेडियर राजेंद्र राणा, देवदत्त शर्मा और योगेश महाजन इस मौके पर व अन्य गण्यमान्य लोग उपस्थित रहे।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !