आखिर कहां गई गौरव मिन्हास की डायरी में नोट 535 पेटी शराब

punjabkesari.in Monday, Jan 31, 2022 - 12:50 PM (IST)

बिलासपुर : मंडी में जहरीली शराब का मामला सामने आने के बाद से प्रदेश पुलिस इस मामले के आरोपियों तक पहुंचने का कार्य कर रही हे। वहीं प्रदेश भर से अवैध शराब को जब्त किया जा रहा है। मंडी का मामला सामने आने के बाद डीजीपी संजय कुंडू ने पत्रकार वार्ता में बताया था कि उन्हें गौरव मिन्हास की एक डायरी मिली थी, डायरी की जांच में पता चला था कि उसने बिलासपुर भी 535 पेटी शराब पहुंचाई थी। हालांकि यह शराब की पेटियां पुलिस अब तक बरामद नहीं कर सकी है। हालांकि अभी तक माना जा रहा था कि बरमाणा में नवंबर में पकड़ी गई अवैध शराब की 534 पेटी वही हैं जिसका जिक्र गौरव मिन्हास की डायरी में मिला है। लेकिन एसपी बिलासपुर के अनुसार उस शराब का गौरव मिन्हास से कोई संबंध नहीं है। पकड़ी शराब लाइसेंस वाली फैक्ट्री में बनी थी। उन्होंने कहा कि इस मामले में डीजीपी या एसआईटी से कोई निर्देश नहीं मिले हैं। 

अब इस मामलेमेंस वाल यह उठाता है कि आखिर वो 535 पेटी शराब कहां गई, जिसका जिक्र गौरव मिन्हास ने अपनी डायरी में किया था। वहीं जहां पूरे प्रदेश में शराब माफिया के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है तो बिलासपुर पुलिस को कार्रवाई किए जाने के संबंध में अब तक कोई आदेश जारी क्यों नहीं किए गए हैं। गौरव की जांच और उसके कब्जे से बरामद साक्ष्य और उसके घर की तलाशी लेने पर पता चला कि अवैध शराब की पेटियां कई जिलों में वितरकों को सप्लाई की गई थी। इनमें कांगड़ा जिले को 450 पेटी, ऊना जिला को 145, हमीरपुर को 120, बिलासपुर को 535 और मंडी को 150 पेटी भेजी गई हैं। स्थानीय पुलिस की टीमें संबंधित जिलों में तलाशी लेकर इसे जब्त करेंगी। हैरानी की बात है कि इतनी बड़ी मात्रा में शराब जिले में पहुंचने की पुष्टि के बाद जिला पुलिस को यह भी पता नहीं कि वह शराब कहां है। 

एसपी बिलासपुर साजुराम राणा ने कहा कि 17 नवंबर को बरमाणा में पकड़ी गई शराब का गौरव मिन्हास से कोई संबंध नहीं है। शराब की खेप पकड़ने के बाद आबकारी अधिकारी ने उसकी पुष्टि की थी कि उसे पीने से किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ और वह सेफ है। उस शराब की खेप को ले जाने वाला बिना नंबर के ट्रक का मालिक हमीरपुर का है। मंडी में जहरीली शराब मामले में डीजीपी या एसआईटी टीम से कोई निर्देश नहीं मिले हैं। न ही गौरव मिन्हास के बिलासपुर के लिए 535 पेटी शराब भेजने की उन्हें कोई जानकारी है। जब तक मामले में छानबीन के आदेश नहीं मिलते, इस पर कोई बात नहीं कर सकते। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Related News

Recommended News