कर्मचारी चयन आयोग कार्यालय के बाहर 7 दिनों से दर्जनों अभ्यर्थी अनशन पर बैठे

12/5/2019 4:59:25 PM

हमीरपुर (अरविंदर): हमीरपुर स्थित हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग कार्यालय के बाहर पिछले सात दिनों से जूनियर ऑफिसर एसिस्टेंट पोस्ट कोड 556 के दर्जनों अभ्यर्थी अनशन पर बैठे है लेकिन सरकार और विभाग के किसी भी नुमाइदों ने इनकी सुध नहीं ली है। अनशन पर बैठे हुए अभ्यर्थियों से कांग्रेस के सुजानपुर विधायक राजेंद्र राणा ने हालचाल पूछा और अभ्यर्थियों को आश्वासन दिया कि विधानसभा के शीतकालीन सत्र में अभ्यर्थियों के मामले को प्रमुखता से सरकार के समक्ष रख कर हल करवाएंगे। उन्होंने आयोग के बाहर अनशन पर बैठे हुए अभ्यर्थियों के साथ हो रहे अन्याय पर रोष प्रकट किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की बेपरवाह अफसरशाही के चलते अभ्यर्थियों के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है।
PunjabKesari
उन्होंने कहा कि विधानसभा में इस मामले को प्रमुखता से उठाया जाएगा और सोई हुई सरकार को जगाया जाएगा। उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया कि पिछले सात दिनों से न्याय के लिए गुहार लगाई जा रही है लेकिन फिर भी सरकार पर असर नहीं हो रहा है। अनशन पर बैठे हुए अभ्यर्थियों ने बताया कि सात दिनों से अनशन पर बैठे हुए है लेकिन कोई भी सुध लेने नही आया है। उन्होंने कहा कि अपने हक की लडाई प्रदेश के करीब 2400 अभ्यर्थियों को संघर्ष करना पड रहा है। उन्होंने कहा कि सभी अभ्यर्थियों ने लिखित परीक्षा के बाद इंटरव्यू तक पास किया है लेकिन परिणाम निकालने से कुछ मिनट पहले अभ्यर्थियों को बाहर किया जाता है जिसके बाद कोर्ट में भी मामला जाता है लेकिन अब अभ्यर्थियों का भविष्य दाव पर लगा हुआ है। उन्होंने कहा कि अगले कल मुख्यमंत्री के हमीरपुर दौरे के दौरान मुलाकात करके न्याय की गुहार लगाएंगे। वहीं राणा ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के हमीरपुर दौरे पर चुटकी ली और कहा कि बीजेपी के लोग केवल बयानबाजी करने तक ही सीमित रहे है क्योंकि तकनीकी विश्वविद्यालय परिसर का शिलान्यास कांग्रेस समय में हुआ था और बजट काप्रावधान भी पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के समय में हुआ था। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अंदर सडकों का हाल बुरा है और हमीरपुर को विकास के नक्शे से बाहर कर दिया है।
 


kirti

Related News