नारी में मतगणना के दौरान हंगामा, लोगों ने 4 घंटे किया चक्का जाम

1/20/2021 10:38:54 PM

ऊना (विशाल): चुनावों के दौरान क्षेत्र की पंचायत मजारा और नारी में मतगणना के दौरान हंगामा हुआ। ग्रामीणों ने मतगणना में धांधली होने का आरोप लगाते हुए जमकर नारेबाजी की। इस दौरान दोनों ही गांवों में पुलिस को सुरक्षा व्यवस्था के लिए पहुंचना पड़ा। देर रात तक इन दोनों गांवों में तनावपूर्ण माहौल रहा। नारी गांव में रिकाऊंटिंग की मांग न माने जाने पर प्रधान पद के प्रत्याशी सहित उनके समर्थकों ने हंगामा किया, जिसके बाद पुलिस ने वहां हल्का बल प्रयोग किया, वहीं मजारा में भी धांधली के आरोप लगाते हुए नारेबाजी की गई।  बुधवार को सुबह से नारी में ग्रामीणों ने कुटलैहड़ कांग्रेस अध्यक्ष विवेक विक्कू की अगुवाई में चक्का जाम करते हुए लगभग 4 घंटे तक धरना दिया और बाद में एसडीएम के समझाने के बाद वे डीसी ऊना के पास शिकायत लेकर पहुंचे। ग्रामीणों ने ऊना-धमांदरी रोड वाया टक्का को पूरी तरह जाम रखा।

...तो 21 जनवरी के बाद कांग्रेस छेड़ेगी जन आंदोलन

वहीं मजारा गांव के ग्रामीणों ने बुधवार को सदर विधायक सतपाल रायजादा के साथ डीसी ऊना से मुलाकात की और मतगणना में धांधली होने के आरोप लगाते हुए इस संबंध में कार्रवाई करने को कहा। सदर विधायक ने सीधे-सीधे प्रदेश सरकार पर भाजपा समर्थित प्रत्याशियों को जिताने के लिए धक्केशाही करने के आरोप लगाए हैं। उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर प्रशासन ने ऐसे मामलों पर कार्रवाई नहीं की तो 21 जनवरी के बाद कांग्रेस जन आंदोलन छेड़ेगी। वहीं नारी गांव में प्रधान पद के प्रत्याशी कुलदीप चंद ने आरोप लगाया कि उनकी रिकाऊंटिंग की मांग को पूरा नहीं किया गया।  विरोध करने पर उन पर डंडे बरसाए गए और पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया था। कुटलैहड़ कांग्रेस अध्यक्ष विवेक शर्मा ने कहा कि दोबारा मतगणना करवाना प्रत्याशी का अधिकार है।

ज्वार में भी वोटों की गिनती में धांधली के आरोप

उधर, अम्ब उपमंडल के ज्वार पंचायत के चुनाव में खड़े कुछ उम्मीदवारों ने वोटों की गिनती में धांधली के आरोप लगाते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी एवं डीसी ऊना राघव शर्मा को ज्ञापन सौंपा। उम्मीदवार रामजी दास व जगतार सिंह ने कहा कि हमारी ग्राम पंचायत ज्वार में 17 जनवरी को चुनाव हुए और चुनाव के बाद गिनती की प्रक्रिया शुरू की गई लेकिन पंचायत सचिव की वहां तैनाती नहीं थी। उसके बावजूद पंचायत सचिव द्वारा वोटों की गिनती में हस्तक्षेप किया गया। जब प्रधान पद के लिए मतों की गिनती हुई तो जगतार सिंह को 457 मत व संदीप कुमार को 448 मत व तीसरे उम्मीदवार हुकम सिंह को 289 मत पड़े, वहीं चौथे उम्मीदवार को 36 मत पड़े थे। जब दोबारा से गणना की गई तो जगतार सिंह के 9 मत कम दर्शाकर जगतार सिंह के 440 व संदीप कुमार के 450 मत बताकर उन्हें विजयी घोषित कर दिया गया। उन्होंने कहा उनके द्वारा रिकाऊंटिंग करवाने की मांग पर संदीप कुमार के मतों की दोबारा से गिनती करवाई गई मगर तीसरे व चौथे उम्मीदवार के मतों की नहीं करवाई गई। डीसी ऊना राघव शर्मा ने कहा कि मजारा पंचायत चुनाव में मतगणना को लेकर उन्हें शिकायत प्राप्त हुई है जिसकी जांच करवाई जाएगी और पंचायती राज एक्ट के अनुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।


Vijay

Recommended News