पुलिस भर्ती लिखित परीक्षा फर्जीवाड़े के सरगना ने उगले नाम, 8 पुलिस जवानों सहित 12 के खिलाफ शुरू हुई जांच

1/16/2020 9:20:45 PM

धर्मशाला (नितिन): पुलिस भर्ती की लिखित परीक्षा फर्जीवाड़े के दाग वर्तमान में पुलिस में सेवाएं दे रहे जवानों की वर्दी पर भी लगे हैं। हिमाचल प्रदेश पुलिस में 8 पुलिस जवान फर्जी तरीके से लिखित परीक्षा पास कर अपनी सेवाएं दे रहे हैं, साथ ही हिमाचल पथ परिवहन निगम के परिचालक तथा जेल वार्डन के पदों पर भी अभ्यार्थियों को फर्जी तरीके से पास करवा नौकरी लगवाई है। पुलिस जांच में पुलिस भर्ती लिखित परीक्षा फर्जीवाड़े के मुख्य आरोपी ने 12 लोगों के नाम बताए हैं, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी की शिनाख्त पर उक्त उम्मीदवारों के दस्तावेजों की जांच तथा अन्य तथ्यों को खंगालने की प्रक्रिया आरंभ कर दी है।

वीरवार को पुलिस अधीक्षक कांगड़ा विमुक्त रंजन ने पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि पुलिस भर्ती लिखित परीक्षा फर्जीवाड़े के मुख्य आरोपी विक्रम चौधरी ने पूछताछ में 12 लोगों के नाम बताए हैं। इन सभी को आरोपी ने फर्जीवाड़े तरीके पुलिस सहित विभिन्न विभागों में नौकरी दिलवाई। उन्होंने कहा कि आरोपी ने बताया है कि पुलिस में ही लगभग 8, जेल वार्डन पदों की भर्ती में एक तथा एचआरटीसी के परिचालकों के पदों पर हुई भर्ती के दौरान 2 अभ्यार्थियों को फर्जीवाड़े के तहत पास करवाया है।

एसपी ने कहा कि आरोपी विक्रम की शिनाख्त पर पुलिस में सेवाएं दे रहे ऐसे जवानों के दस्तावेजों की जांच को आरंभ कर दिया है, साथ ही जांच में उक्त जवानों के खिलाफ तथ्य सही पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसके लिए पुलिस इन जवानों के खिलाफ केस भी दर्ज कर सकती है। उन्होंने कहा कि एचआरटीसी तथा जेल वार्डन के पदों पर नौकरी कर रहे ऐसे अभ्यार्थियों पर भी कार्रवाई की जाएगी तथा अन्य विभागों को भी आरोपी द्वारा बताए गए नामों की सूची आगामी कार्रवाई के लिए भेज दी गई है।

उन्होंने कहा कि इस मामले में अभी और गिरफ्तारियां हो सकती हैं। इस फर्जीवाड़े की जांच में अभी तक पुलिस ने 35 गिरफ्तारियां की हैं। आरोपी ने पुलिस पूछताछ के दौरान कबूल किया है कि उसने वर्ष 2012 से लेकर 2017 तक उक्त अभ्यार्थियों को फर्जीवाड़े से पास करवाकर सरकारी नौकरी दिलवाई है।


Vijay

Related News