NIT मामले में निजी आकांक्षाओं की पूर्ति न होना कांग्रेसी नेता के दिखावे की वजह तो नहीं : भाजपा

7/3/2020 5:58:25 PM

हमीरपुर (राजीव) : एनआईटी हमीरपुर मसले में कोरोना लॉकडाऊन के चलते रुकी कार्यवाही को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री निशंक पोखरियाल व केंद्रीय वित्त एवं कॉर्पोरेट अफेयर्स राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर की मुलाकात गति प्रदान करेगी। यह बात जिला भाजपा महामंत्री हरीश शर्मा व अभयवीर लवली, उपाध्यक्ष अनिल कौशल व जिला मीडिया प्रभारी अंकुश दत्त शर्मा ने कही। उन्होंने कहा कि बीते वीरवार को ही मानव संसाधन विकास मंत्री से विभिन्न मुद्दों पर वित्त राज्य मंत्री की चर्चा हुई थी, जिनमें एनआईटी हमीरपुर पर लग रहे भ्रष्टाचार के आरोपों और गिरती रैंकिंग का मुद्दा भी शामिल था। 

भाजपा नेताओं ने एनआईटी मुद्दे को जरिया बनाकर अपनी राजनीति चमकाने व इस बहाने केंद्र सरकार और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर पर उंगली उठाने वालों को भी खरी-खोटी सुनाई है। भाजपा नेताओं ने कहा कि कोरोना काल में लॉकडाऊन के दौरान सरकार ने जान और जहान को बचाने को प्राथमिकता जरूर दी है लेकिन कांग्रेस नेता राजेंद्र राणा का शिक्षण संस्थाओं में सरकार का गुणवत्ता के प्रति गंभीर न होना समझ कर आंकना, बहुत बड़ी भूल है। 

भाजपा नेताओं ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि कांग्रेस नेता किसी कारण विशेष के तहत एनआईटी मामले में दिलचस्पी ले रहे हैं, कहीं निजी आकांक्षाओं की पूर्ति न होना इस अनापेक्षित दिखावे की वजह तो नहीं है। कांग्रेस के सत्तासीन रहते हुए जब प्रदेश में भ्रष्टाचार के मामलों के चलते सीबीआई के छापे पड़े तब राजेंद्र राणा चुप बैठे थे, तब जनभावनाओं की याद कहां गई थी, एनआईटी मामले में तो दूध का दूध पानी का पानी हो ही जाएगा। 

भाजपा नेताओं ने कहा कि राजेन्द्र राणा को केंद्र सरकार की भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति पर उंगली उठाना शोभा नहीं देता। जो खुद कोरोना लॉकडाऊन में महीनों तक विधानसभा के बाशिंदों की सुध लेने नहीं पहुंच सके जबकि केंद्र सरकार और मंत्रियों की कार्य प्रणाली पर उंगली उठाकर सुर्खियों में बनने की कोशिश कर रहे हैं, जो हास्यास्पद है।
 


Edited By

prashant sharma

Related News