हिमाचल में 3307 करोड़ के निवेश को चंडीगढ़ में 26 औद्योगिक घरानों के साथ एमओयू साइन

punjabkesari.in Sunday, Sep 05, 2021 - 11:46 PM (IST)

डाडासीबा (सुनील): हिमाचल प्रदेश के उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने चंडीगढ़ में 26 औद्योगिक घरानों के साथ 3307 करोड़ रुपए निवेश के एमओयू पर हस्ताक्षर किए। इसमें करीब 15,000 लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है। इस अवसर पर उद्योग विभाग के निदेशक राकेश प्रजापति, अतिरिक्त निदेशक तिलक राज शर्मा, महाप्रबंधक ऊना एवं सिरमौर भी उपस्थित थे। जिन बड़ी कंपनियों के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए हैं, उनमें लुधियाना स्थित ट्राइडेंट कम्पनी द्वारा प्रदेश में टैक्सटाइल पार्क बनाने का प्रस्ताव दिया गया, जिसमें करीब 800 करोड़ रुपए का निवेश होगा। उद्योग मंत्री ने टैक्सटाइल पार्क की स्थापना का मार्ग प्रशस्त करने के लिए विभाग के अधिकारियों को शीघ्र उचित कदम उठाने के निर्देश दिए। भारत सरकार के आत्मनिर्भर अभियान के अंतर्गत पैट्रोल के आयात का खर्चा कम करने के लिए एथनॉल आधारित उद्योग स्थापित किए जाने की दिशा में प्रदेश में लगभग एक हजार करोड़ रुपए निवेश के 6 एमओयू साइन किए गए।

बेटर टुमारो इंफ्रास्ट्रक्चर एंड सॉल्यूशन्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा प्रदेश में प्राइवेट इंडस्ट्रीयल पार्क के लिए 490 करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा, जिसमें करीब 2000 लोगों को रोजगार मिलेगा। इसके अलावा माधव एग्रो कंपनी द्वारा 400 करोड़ रुपए की लागत से प्राइवेट इंडस्ट्रीयल पार्क विकसित किया जाना प्रस्तावित है जिसमें 2000 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा। हिमालयन ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस द्वारा 150 करोड़ रुपए लागत की निजी क्षेत्र में हिमालयन स्किल यूनिवर्सिटी स्थापित की जाएगी जिसमें 450 लोगों को रोजगार मिलेगा। मैटेफि जिकल हैल्थ केयर प्राइवेट लिमिटेड द्वारा नालागढ़ में 150 करोड़ रुपए से 250 बिस्तर का प्राइवेट अस्पताल स्थापित किया जाएगा जिसमें 500 लोगों को रोजगार मिलेगा।

प्रदेश में निवेश के लिए मिलेंगी सुविधाएं व रियायतें : बिक्रम सिंह

उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने उद्यमियों को हिमाचल प्रदेश में अधिकाधिक निवेश करने का खुला निमंत्रण देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व में सरकार उद्यमियों को निवेश के लिए हरसंभव सुविधाएं, प्रोत्साहन व रियायतें प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि 2 साल पहले सरकार द्वारा राज्य की पहली ग्लोबल इन्वैस्टर्स मीट का आयोजन किया गया जिसकी बदौलत प्रदेश दूसरी औद्योगिक क्रांति का अग्रदूत बना। ग्लोबल इन्वैस्टर्स मीट में दुनियाभर के निवेशकों ने भाग लिया और इस दौरान सरकार द्वारा 96 हजार करोड़ रुपए के प्रस्तावित निवेश के साथ 700 से अधिक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। इसके बाद 14500 करोड़ रुपए के निवेश की ग्राऊंड ब्रेकिंग सेरेमनी का सफ लतापूर्वक आयोजन किया गया जिसमें 28000 व्यक्तियों को प्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने भविष्य के लिए प्रस्तावित औद्योगिक विकास व औद्योगिक पार्कों के लिए पिछले वर्ष के दौरान 3000 एकड़ से अधिक भूमि बैंक बनाया है। उन्होंने कहा जल्दी ही प्रदेश को संभावित 8000 करोड़ रुपए निवेश का बल्क ड्रग पार्क मिलने की भी आशा है जिसमें 15000 लोगों को रोजगार देने की क्षमता होगी। उद्योग मंत्री ने कहा कि प्रदेश में 2 नई पेपर मिल स्थापित होना भी प्रस्तावित हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Related News

Recommended News