JSW के संजीवनी अस्पताल को बनाया जाए डैडिकेटेड कोविड केयर सैंटर : जगत नेगी

4/17/2021 5:17:26 PM

रिकांगपिओ (रिपन): देश व प्रदेश के साथ साथ दिन-प्रतिदिन कोरोना के मामले गंभीर रूप धारण कर रहे हैं परन्तु जनजातीय क्षेत्र जिला किन्नौर में कोविड केयर के लिए उचित संसाधन तक नहीं है। यह बात शनिवार को किन्नौर कांग्रेस विधायक जगत सिंह नेगी ने रिकांगपिओ में प्रैसवार्ता करते हुए कही। इस अवसर पर उनके साथ इंटक प्रदेश सचिव कुलबंत नेगी व कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता डॉ. सूर्या प्रकाश बोरस भी मौजूद थे।

जगत सिंह नेगी ने कहा कि क्षेत्रीय चिकित्सालय रिकांगपिओ में वैंटिलेटर तो हैं परंतु उनको चलाने के लिए एनैस्थिया चिकित्सक नहीं है तथा बिना ऑक्सीजन के इनका कोई लाभ नहीं है। उन्होंने कहा कि जिला में अगर किसी कोरोना मरीज को वैंटिलेटर की जरूरत पड़ती है तो यहां इसकी कोई सुविधा नहीं है, जिसके चलते पहले यहां से मरीज को रामपुर रैफर करेंगे परंतु रामपुर में भी सुविधा नहीं है फिर शिमला रैफर करेंगे जो कि यहां से लगभग 250 किलोमीटर दूर है जबकि शिमला पहले ही ओवर कोविड है, इसलिए जेएसडब्ल्यू के संजीवनी अस्पताल को डैडिकेटेड कोविड केयर सैंटर बनाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि यह प्रोजैक्ट प्रभावित क्षेत्र के लोगों के लिए बना है तथा इस अस्पताल में सारी सुविधाएं हैं इसलिए सरकार व प्रशासन द्वारा इसे शीघ्र कोविड केयर सैंटर बनाया जाना चाहिए।

जगत सिंह नेगी ने यह भी कहा कि पिछले करोना काल में भी हम यह मांग विधानसभा व अन्य बैठकों में बार-बार उठाते रहे हैं परंतु पता नहीं क्या कारण है कि सरकार इसे कोविड केयर सैंटर बनाने के लिए क्यों तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि संजीवनी अस्पताल डैडिकेटेड केयर सैंटर बनाया जाता है तो यहां वैंटिलेटर के साथ-साथ अन्य सुविधाएं भी हैं, जिससे हम किन्नौर में जो भी इस रोग से ग्रस्त होंगे उन्हें यहां पर ही बेहतर स्वास्थ्य सुविधा दे सकते हैं तथा उनका इलाज भी कर सकते हैं।


Content Writer

Vijay

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static