यमुना और गिरि नदी में बेखौफ हो रहा खनन, जान कर भी अनजान बन रहा विभाग

punjabkesari.in Saturday, Jul 04, 2020 - 04:21 PM (IST)

पुरूवाला (ब्यूरो): खनन माफिया मां यमुना और गिरि नदी को छलनी करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। खनन माफियाओं के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि न तो पुलिस प्रशासन का भय और न ही माइनिंग विभाग और वन विभाग का। धड़ल्ले से यमुना नदी पर दर्जनों ट्रैक्टर के माध्यम से खनन किया जा रहा है, वहीं पांवटा साहिब में सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि यमुना नदी को छलनी करने के लिए माफिया कैसे उतारू हो रहे हैं।

गर्मियों में हो जाती है पानी की किल्लत

यह खनन का ही असर है कि हर साल गर्मियों में पांवटा साहिब की आम जनता को पानी किल्लत से जूझना पड़ता है। पांवटा साहिब के अधिकतर क्षेत्रों में पानी का स्तर 150 से 200 फुट तक गिर गया है। पास ही बसे नवादा और मानपुर देवड़ा के ग्रामीणों ने माइनिंग विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों पर भी लापरवाही के आरोप लगाए हैं। लोगों का कहना है कि एक और खनन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं लेकिन माइनिंग विभाग इस पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।

वन विभाग के कर्मचारियों से भी हो चुकी है मारपीट

इस वीडियो के साथ-साथ चंद शब्द भी वायरल हो रहे हैं, जिसमें साफ सुनाई दे रहा है कि ग्रामीणों द्वारा खनन माफियों को खनन करने से रोकने के लिए बोले जाने पर मारपीट जैसा माहौल पैदा हो जाता है, पहले भी खनन माफियों द्वारा वन विभाग के कर्मचारियों के साथ मारपीट का मामला सामने आ चुका है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Vijay

Related News

Recommended News