प्रत्येक गांव को प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना से जोड़ने का केंद्र के समक्ष रखा मामला

3/12/2021 11:17:46 AM

धर्मशाला (ब्यूरो) : कांगड़ा-चम्बा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के सांसद किशन कपूर ने हिमाचल प्रदेश के सीमांत एवं दूरस्थ क्षेत्रों में प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत सड़कों के निर्माण को गति प्रदान करने का केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय के समक्ष मामला रखा है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के 18,711 में से गत फरवरी मास तक केवल 13,997 गांवों को सम्पर्क सड़कों से जोड़ा गया है जबकि 4,404 गांव सम्पर्क सड़कों से वंचित हैं। इससें प्रदेश के 6,36,549 लोगों को यह सुविधा प्राप्त नहीं हो रही। लोकसभा में प्रदेश के दूरस्थ एवं सीमांत क्षेत्रों सम्पर्क सड़कों के संबंध में पूछे गए प्रश्न के उत्तर पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सांसद किशन कपूर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के चीन से लगते लाहुल-स्पीति व किन्नौर के सम्बंध में तो केंद्र ने जानकारी प्रदान कर दी है, लेकिन प्रदेश के सबसे अधिक आकांक्षी जिला चम्बा के विषय में जानकारी नहीं दी गई।

उन्होंने कहा कि चंबा जिला की पाकिस्तान से हवाई दूरी बहुत कम है। चंबा क्षेत्र के डलहौजी सर्कल में 315 गांव के 82464 लोग सम्पर्क सड़कों की सुविधा से वंचित है। इसके परिणामस्वरूप इन क्षेत्रों के युवा रोजगार की तलाश में इन क्षेत्रों से पलायन कर रहे है। उन्होंने कहा इसी तरह कांगड़ा जिला के पालमपुर तथा नूरपुर सर्कल के अंतर्गत 307 गांवों के 18582 लोगों को भी अभी प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत सम्पर्क सड़क की सुविधा प्राप्त नहीं हुई है। इन गांवों के लिए केंद्र सरकार को जनसंख्या सम्बन्धी व अन्य मानकों के संबंध में छूट देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि  इन छूटी हुई बस्तियों में से 3851 ऐसी बस्तियां हैं जिनकी जनसंख्या 250 से कम है। सांसद किशन कपूर ने कहा कि वे शीघ्र ही केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री से भेंट कर उन्हें स्थिति से अवगत करवाएंगे ताकि शीघ्र ही प्रदेश के इन छूटे हुए गांवों को सम्पर्क-सड़क से जोड़ा जा सके।
 


Content Writer

prashant sharma

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static