चिकित्सा विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर IIT और AIIMS मिलकर करेंगे काम, एमओयू साइन

punjabkesari.in Thursday, Dec 02, 2021 - 06:08 PM (IST)

मंडी (रजनीश): शैक्षणिक गतिविधियों में चिकित्सा विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) मंडी और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) बिलासपुर मिलकर कार्य करेंगे। शोध और शैक्षणिक कार्यों के लिए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) मंडी ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) बिलासपुर के साथ एमओयू साइन किया है, जिसके तहत दोनों संस्थानों द्वारा संयुक्त शोध कार्यों और ज्ञान के आदान-प्रदान को बढ़ावा दिया जाएगा। आईआईटी मंडी में आयोजित हस्ताक्षर कार्यक्रम में आईआईटी और एम्स ने उद्योग जगत के भागीदारों के सहयोग से टैक्नोलॉजी के ट्रांसलेशन के भावी विस्तार पर भी चर्चा की ताकि यह सुनिश्चित हो कि शोध के लाभ पूरे समाज के लोगों तक पहुंचें।

एमओयू पर इन्होंने किए हस्ताक्षर

एमओयू पर प्रो. अजीत चतुर्वेदी निदेशक आईआईटी मंडी, डाॅ. वीर सिंह नेगी निदेशक एम्स बिलासपुर व डाॅ. वेंकटकृष्णन डीन (एसआरआईसी) आईआईटी मंडी ने हस्ताक्षर किए। इस मौके पर डाॅ. विक्रांत कंवर उपचिकित्सा अधीक्षक एम्स बिलासपुर और आईआईटी मंडी के शिक्षा संकाय के अन्य सदस्य भी मौजूद रहे।

एमओयू में यह भी है खास

एमओयू में चिकित्सा और सार्वजनिक स्वास्थ्य पर संयुक्त अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन, कार्यशाला और सैमीनार, शिक्षा और शोध कार्यक्रमों से संबद्ध शिक्षा, अन्य पाठ्य सामग्रियों की जानकारी का आदान-प्रदान, चिकित्सा उद्योग के दोनों पक्षों को जोडऩा व डिवाइस और उपकरण जो परस्पर सहयोग पर आधारित और मौजूदा कानूनों के अनुसार हों, ये पहलू खास रहेंगे।

इन पर होगा काम

एमओयू के तहत संयुक्त शोध और शैक्षणिक गतिविधियों में चिकित्सा विज्ञान और प्रौद्योगिकी से संबंधित विभिन्न डोमेन के अहम कार्य होंगे। इसमें मेडिकल इमेजिंग, डिजिटल पैथोलॉजी, प्वाइंट ऑफ केयर टैस्टिंग डिवाइस, बायोइन्फॉर्मेटिक्स, एंडोक्राइनोलॉजी, बायोमैटीरियल्स व टैलीमेडिसिन आदि शामिल होंगे।

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Related News

Recommended News