हिमाचल में आज करीब 1000 रूटाें पर दाैड़ेंगी HRTC बसें, SOP का करना हाेगा पालन

2021-06-13T23:57:24.173

शिमला (ब्यूराे): कोरोना संकट में सोमवार से परिवहन सेवाएं शुरू हो जाएंगी। ऐसे में परिवहन विभाग द्वारा जारी की गई एसओपी के साथ प्रदेश में एचआरटीसी पहले दिन करीब 1000 रूटों पर बसें चलाएगा। हालांकि निगम प्रबंधन ने 1500 से अधिक बसें तैयार कर रखी हैं। ये बसें यात्रियों की संख्या के अनुसार रूटों पर चलाई जाएंगी क्योंकि निजी बस आप्रेटरों ने बसों को चलाने से मना कर दिया है, ऐसे में बसों की कमी न हो इसके लिए निगम ने पूरी तैयारी की है। ऐसे में जिन रूटों पर अधिक सवारियां होंगी उन रूटों पर अतिरिक्त बसें भी निगम चलाएगा। निगम का दावा है कि प्रदेश में प्राइवेट बसें खड़ी होने पर यात्रियों को हर जगह बस सेवाएं मुहैया करवाई जाएंगी। यात्रियों की संख्या के अनुसार बस रूट घटाए व बढ़ाए जा सकते हैं।

बस में खड़ी सवारी नहीं होगी मान्य

परिवहन सेवा शुरू होने के साथ परिवहन विभाग ने एसओपी भी जारी की है। एसओपी के तहत जिन यात्रियों का आरोग्य सेतु एप में रैड स्टेटस होगा, वह यात्री अब बसों में सफर नहीं कर पाएंगे, वहीं जिन यात्रियों में कोविड-19 के लक्षण नहीं होंगे, वह सभी यात्री बसों में सफर कर पाएंगे। इसके अतिरिक्त बसों में फिलहाल 50 प्रतिशत ऑक्यूपैंसी जारी रहेगी। बसों में खड़ी सवारियां ले जाने की अनुमति नहीं होगी। बसों में खड़ी सवारी ले जाने पर विभाग सख्त कार्रवाई करेगा। इसके अतिरिक्त अब बस में चढऩे से पहले यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग की जाएगी। यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग करने का काम कंडक्टर करेंगे। बस आप्रेटरों व आरएम को कंडक्टरों को थर्मल स्कैनर मुहैया करवाने होंगे।

लक्षण आने पर देनी होगी सूचना

बस चालक-परिचालक और यात्रियों में अगर जुखाम बुखार या अन्य लक्षण पाए जाते हैं तो उन्हें नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में इस बात की सूचना देनी जरूरी होगी। इतना ही नहीं बसों में वैंटिलेशन की पूरी व्यवस्था रहे। बस चालक व परिचालकों को यह भी सुनिश्चित करना होगा। बस स्टैंड पर लोगों को जागरूक करने के लिए कोविड की चेतावनी वाले संकेत वाले पोस्टर लगाना पब्लिक अनाऊंसमैंट करवाने के लिए भी निर्देश जारी किए गए हैं। बस स्टैंड में कैश काऊंटर पर बैठने वाले कर्मचारी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें, हाथों को सैनिटाइज करेें व मास्क पहनें। इसके अनुपालना करवाने के लिए एचआरटीसी को निर्देश जारी किए गए हैं।

बसों की सैनिटाइजेशन जरूरी

परिवहन विभाग की ओर से जारी की गई एसओपी के मुताबिक बसों की सैनिटाइजेशन करना अनिवार्य रहेगा। बसों की सैनिटाइजेशन सुबह बस चलने से पहले या फिर शाम को बस खड़ी होने के बाद करवाना जरूरी होगा। बसों की सैनिटाइजेशन करवाने के लिए आरटीओ व आरएम की जिम्मेदारी होगी। सभी डिपो के आरएम को बस स्टैंड पर साफ -सफाई सुनिश्चित करवानी होगी। इतना नहीं बस स्टैंड पर शौचालयों की सैनिटाइजेशन करवाने के आदेश भी जारी किए गए हैं।

किस जिले में कितने रूटाें पर चलेंगी बसें

जानकारी के अनुसार बिसासपुर जिले में 46, चम्बा जिले में 53, हमीरपुर जिले में 33, कांगड़ा जिले में 165, कुल्लू जिले में 50, किन्नाैर जिले में 28, लाहौल-स्पीति जिले में 25, मंडी जिले में 229, शिमला जिले में 225, सिरमाैर जिले में 72, सोलन जिले में 60 व ऊना जिले में 20 के करीब रूटाें पर बसें चलेंगी।

मंगलवार से सुचारू रूप से शुरू होगा बसों का संचालन

सोमवार से परिवहन सेवा तो शुरू होगी, लेकिन बस ऑप्रेशन मंगलवार से पूरी तरह से शुरू होगा। निगम अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार जिन डिपुओं से बसें चलती हैं उन डिपुओं से बसें अपने रूटों पर चलेंगी और रूटों पर रवाना होंगी। ऐसे में रूटों पर पहुंचने के बाद मंगलवार से ऑप्रेशन शुरू होगा और पहले की तरह बसें रवाना होंगी, ऐसे में सोमवार को लम्बे रूट पर चलने वाली बसों को लेकर परेशानी हो सकती है। शिमला से सुबह से शाम तक लांग रूटों पर कई बसें जाती हैं और यह बसें अलग-अलग डिवीजन की होती हैं, ऐसे में सोमवार को यह बसें अपने रूटों पर आएगी और मंगलवार से उसी समय से रवाना होगी जिस समय पर पहले रवाना होती थी।

एचआरटीसी के एमडी संदीप कुमार ने बताया कि एचआरटीसी ने सोमवार से बसें चलाने की पूरी तैयारी की है। सभी आरएम को लोगों को बसें मुहैया करवाने के निर्देश जारी किए गए हैं। प्राइवेट बसों की हड़ताल का लोगों पर असर नहीं पड़ने दिया जाएगा। लोगों को बस सुविधा मिलेगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Recommended News

static