लैपटाॅप नहीं अब मेधावी छात्रों को टैब उपलब्ध कराएगी हिमाचल सरकार

2021-06-10T12:49:40.307

शिमला : हिमाचल की जयराम सरकार अब मेधावी छात्रों को लैपटॉप की जगह टैब देगी। प्रदेश के स्कूल कॉलेजों में पढ़ने वाले करीब 19 हजार से ज्यादा मेधावी छात्रों को टैब बांटे जाएंगे। सरकार लैपटॉप की जगह छात्रों को टैब देकर अपना करोड़ों का बजट भी बचाएगी। बता दें कि प्रदेश सरकार हर साल मेधावी छात्रों को लैपटॉप खरीद पर 40 करोड़ से ज्यादा का बजट खर्च करती थी, लेकिन अब छात्रों को टैब दिए जाएंगे, तो इस पर कम खर्चा आएगा। मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार को मेधावी छात्रों को टैब देने के लिए 16 से 17 करोड़ खर्च करने पड़ेंगे। अहम यह है कि अगले साल जो टैब छात्रों को मिलेगे, उसमें पहले से ही अध्ययन सामग्री उपलब्ध होगी। 

सरकार के प्रोपोजल के अनुसार टैब में पहले से ही शिक्षा विभाग के स्टडी से संबधित सॉफ्टवेयर इंस्टॉल किए होंगे, ताकि मेधावी छात्र इन टैब का अपनी शिक्षा के लिए ही इस्तेमाल कर सकें। बता दें कि सरकार ने इस साल से मेधावी छात्रों को स्मार्ट डिवाइस देने का प्रोपोजल तैयार किया था। शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने इस प्रोपोजल में मोबाइल व टैब देने का सुझाव सरकार को दिया था। इसी के चलते अभी तक 2021-2022 के मेधावी छात्रों को टैब देने पर ही सहमति बनी है। गौर हो कि दसवीं, बारहवीं और कॉलेज के टॉपर छात्रों को हर साल लैपटॉप दिए जाते हैं। इससे राज्य के 19 हजार 400 छात्रों को फायदा मिलता है। वहीं, पहले से पास होकर बैठे प्रदेश के छात्र अभी भी इस इंतज़ार में बैठे हुए हैं कि आखिर उन्हें क्या मिलेगा।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Recommended News

static