पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा का नाम वोटर लिस्ट से गायब

1/13/2021 8:14:40 PM

धर्मशाला (ब्यूरो): पिछले पंचायत, विधानसभा व लोकसभा चुनावों में विधानसभा धर्मशाला की रक्कड़ पंचायत से वोट डालने वाले पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा इस बार वोट नहीं डाल पाएंगे। ऐसा इसलिए हुआ है क्योंकि इस बार की पंचायत चुनावों की वोटर लिस्ट से पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा का नाम ही गायब हो गया है। यह मामला सामने आने के बाद पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा ने सरकार की चुनावों को लेकर कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान खड़ा कर दिया है। उन्होंने चुनाव आयोग से कार्रवाई करने मांग करते हुए कहा कि पंचायत चुनावों को हाईजैक करने की कोशिश सरकार ने की है, जिसके तहत हर पंचायत से 200-300 लोगों के नाम वोटर लिस्ट से गायब हैं जबकि वह पिछले चुनावों में अपने मत का प्रयोग कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की लापरवाही एक पूर्व मंत्री के साथ हो सकती है तो सामान्य लोगों के साथ क्या होता होगा, यह बताना मुश्किल है।

उच्च न्यायालय में दायर की जाएगी याचिका

सुधीर शर्मा ने इस मामले को देखते हुए निर्णय लिया है कि वे इस लापरवाही को लेकर प्रदेश उच्च न्यायालय में याचिका दायर करेंगे तथा प्रदेश चुनाव आयोग से यह पूछा जाएगा कि विधानसभा चुनावों व पंचायती राज चुनावों की मतदाता सूची में इतना बड़ा अंतर क्यों है। सुधीर शर्मा ने सवाल उठाया है कि इस प्रकार की लापरवाही से हजारों मतदाता अपने मत का प्रयोग करने से वंचित रहेंगे। उन्होंने कहा कि इससे साफ पता चलता है कि पंचायती राज चुनावों में बड़े स्तर पर धांधलियां हो रही हैं।

हर पंचायत में भेजी थी वोटर लिस्ट

इस मामले में जिला निर्वाचन अधिकारी व डीसी कांगड़ा राकेश कुमार प्रजापति का कहना है कि नियम सभी लोगों के लिए एक जैसे ही हैं। उन्होंने कहा कि 23 दिसम्बर तक वोटर लिस्ट में नाम दर्ज करवाने का मौका था, जिनके नाम वोटर लिस्ट में छूट गए हैं। वोटर लिस्ट को हर पंचायत में भेजा गया था ताकि हर व्यक्ति अपना नाम वोटर लिस्ट में देख सके।


Vijay

Recommended News