बाहरी राज्यों के 350 रूट पर चलेगी बसें, परिवहन विभाग तैयारियों में जुटा

2021-06-25T11:30:36.073

शिमला : हिमाचल प्रदेश में कोरोना के मामलों में कमी आने के बाद सरकार ने कई पाबदियों में छूट देने का एलान कर दिया है। इनमें अब प्रदेश में बसों के संचालन के बाद अब बाहरी राज्यों में भी बसों का संचालन किए जाने की तैयारी की जा रही है। एक जुलाई से बाहरी राज्यों के लिए परिवहन सेवाएं शुरू हो रही हैं। परिवहन विभाग इसकी तैयारियों में जुट गया है। 350 रूटों पर बसें चलाने की तैयारी है। सवारियों की संख्या बढ़ने के साथ ही बसों के रूट में भी इजाफा होगा। हिमाचल प्रदेश से बाहरी राज्यों के लिए 708 रूट हैं। इनमें 200 रूटों पर वोल्वो बसें चलती हैं। परिवहन निगम के पास करीब 60 वोल्वो बसें हैं। ये बसें चंडीगढ़, हरिद्वार, अमृतसर, कटरा, हरियाणा, पंजाब और दिल्ली के लिए चलती हैं। परिवहन निगम से मिली जानकारी के मुताबिक पालमपुर, बैजनाथ, मनाली, धर्मशाला, ऊना और शिमला से चंडीगढ़ के लिए वोल्वो बसें चलाई जानी हैं। 

शिमला, सरकाघाट, हमीरपुर, धर्मशाला, बैजनाथ, बीड़, मनाली, डलहौजी, पठानकोट और नालागढ़ से दिल्ली के लिए बसें चलेंगी। साथ ही मनाली, शिमला और धर्मशाला से हरिद्वार के लिए बसें चलाने की योजना है। साधारण बसें भी विभिन्न डिपो से चलाई जाएंगी। सभी बसें 50 फीसदी ऑक्यूपेंसी पर चलेंगी। सर्दी, खांसी, जुकाम जैसी बीमारी से ग्रस्त लोगों को बसों में चढ़ने नहीं दिया जाएगा। बाहरी राज्यों से हिमाचल आने वाले सैलानियों के लिए वोल्वो बसें फायदेमंद होंगी। परिवहन निगम कार्यालय में प्रतिदिन वोल्वो बसें शुरू करने को लेकर जानकारी मांगी जा रही है। 

एक जुलाई से एचआरटीसी की वोल्वो सेवा शिमला, मनाली और धर्मशाला से दिल्ली रूट पर शुरू होगी। शिमला और मनाली से दो दो वोल्वो, जबकि धर्मशाला से एक वोल्वो दिल्ली रवाना होगी। हमीरपुर, बैजनाथ और सरकाघाट से भी दिल्ली के लिए वोल्वो शुरू करने का विचार चल रहा है। संबंधित क्षेत्रीय प्रबंधकों से इसे लेकर रिपोर्ट मांगी गई है। हिमाचल के विभिन्न जिलों से एक जुलाई को दिल्ली के लिए वोल्वो सेवा उपलब्ध हो जाएगी जबकि दिल्ली से दो जुलाई को वोल्वो सेवा शुरू हो सकेगी। ट्रायल के तौर पर धर्मशाला और मनाली से चंडीगढ़ के लिए भी वोल्वो चलाने की योजना है। 

शिमला से दिल्ली के लिए सुबह नौ बजे और रात 8ः50 पर वोल्वो रवाना होगी। यात्रियों की आक्यूपेंसी के आधार पर वोल्वो की संख्या बढ़ाई जाएगी। बसों को रूट पर भेजने से पहले सैनिटाइज किया जाएगा। सभी यात्रियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। अस्वस्थ यात्रियों को यात्रा की अनुमति नहीं होगी। चालक और परिचालकों को कोरोना से बचाव के लिए सभी आवश्यक एहतियात का पालन करना होगा। रूटों पर यात्रियों की संख्या बढ़ने पर लग्जरी बसों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। एचआरटीसी को लग्जरी बसों का संचालन शुरू होने के बाद आमदनी में इजाफे की उम्मीद है। एचआरटीसी के महा प्रबंधक पंकज सिंघल ने बताया कि ट्रायल के तौर पर लग्जरी बसों का संचालन शुरू किया जा रहा है। सरकार की ओर से निर्धारित एसओपी के अनुसार वोल्वो बसों का संचालन किया जाएगा।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Recommended News

static