यहां आजादी के 7 दशक बाद भी नहीं बना पुल, जान जोखिम में डालकर खड्ड पार कर रहे लोग

8/3/2021 7:33:00 PM

करसोग (धर्मवीर गौतम): करसोग उपमंडल में साहज पंचायत के तहत अति दुर्गम क्षेत्र  बिगण में लोग बरसात के दिनों में बच्चों को पीठ पर उठाकर खड्ड पार करवा रहे हैं। यहां दो पंचायतों शोझा और साहज के बीच बहने वाली बिगण खड्ड में आजादी के 7 दशक बाद भी पुल का निर्माण नहीं हुआ है जबकि इस बीच प्रदेश में कई सरकारें आईं और गईं, ऐसे में लोग जान जोखिम में डालकर खड्ड पार करने को मजबूर हैं। बरसात के दिनों में जब खड्ड अपना रौद्र रूप दिखाती है तो लोग घरों से बाहर नहीं निकल पाते हैं। इस तरह भारी बारिश में बच्चों का स्कूल पहुंचना भी मुश्किल होता है। हालांकि स्थानीय जनता कई बार विभिन्न मंचों के माध्यम से इस मामले को पीडब्ल्यूडी से उठा चुकी है, लेकिन समस्या का कोई समाधान नहीं निकाला गया।

सीएम हैल्पलाइन में भी की शिकायत पर नहीं निकला हल

विभाग की लापरवाही से निराश लोगों ने इसी साल मई में मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हैल्पलाइन के 1100 नंबर पर भी शिकायत की थी लेकिन स्थिति वही ढाक के तीन पात ही है। उपमंडल के बिगण सहित आसपास के क्षेत्रों से लोग तत्तापानी सहित अन्य क्षेत्रों में कामकाज के सिलसिले में बिगण खड्ड पार करके भलाण बस पकडऩे पहुंचते हैं। यही नहीं, इन क्षेत्रों में 10 से अधिक बच्चे पढऩे भी राजकीय उच्च पाठशाला भलाण आते हैं। इसके अतिरिक्त कॉलेज के छात्रों और मरीजों को भी अस्पताल पहुंचने के लिए जूते हाथ में उठाकर खड्ड पार करनी पड़ती है, ऐसे में लोगों को खड्ड से गुजरते वक्त हमेशा अनहोनी का अंदेशा सताता रहता है लेकिन हैरानी की बात है कि लोगों को रोजाना पेश आ रही इतनी परेशानियों के बाद भी पीडब्ल्यूडी की नींद नहीं टूट रही है।

पुल बन जाए वही काफी है : योगराज

स्थानीय निवासी योगराज शर्मा का कहना है कि पुल न होने से बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इस मामले को कई बार विभाग से उठाया जा चुका है। उनका कहना है कि क्षेत्र में स्कूल आने-जाने वाले बच्चे हैं। इसलिए अगरहै। बाकी लोग सड़क के बिना पैदल भी चल लेंगे।

क्या कहते हैं विभाग के अधिकारी

पीडब्ल्यूडी सब डिवीजन कांगू के कनिष्ठ अभियंता संतोष कुमार का कहना है कि पुल निर्माण को लेकर अप्रैल, 2019 में साइट विजिट की गई थी। इस दौरान पुल बनाने के लिए 3 जगह देखी गईं थीं लेकिन जहां पर 30 से 32 मीटर के स्पेन पर पुल की संभावना को देखते हुए साइट फाइनल की गई थी, उसको लेकर लोगों में आपसी सहमति नहीं बन रही है। उन्होंने कहा कि अगर सहमति बनती है तो एस्टीमेट तैयार कर जल्द पुल का निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Recommended News

static