पीएम की मंडी रैली : पड्डल मैदान में बनाए 40 प्रवेश द्वार, 1800 सुरक्षा कर्मी रहेंगे तैनात

punjabkesari.in Friday, Sep 23, 2022 - 12:06 AM (IST)

मंडी (रजनीश): 24 सितम्बर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली को लेकर पड्डल मैदान में 6 मुख्य द्वार और 40 प्रवेश द्वार बनाए गए हैं, जिनमें पुलिस द्वारा स्क्रीनिंग और जांच के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा। सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए 1600 पुलिस जवान व 200 होमगार्ड चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेंगे, वहीं करीब 20 एएसपी व डीएसपी की तैनाती भी की गई है। वीरवार को मंडी में पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए एसपी शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि पड्डल मैदान में 500 महिला सुरक्षा कर्मचारी भी तैनात रहेंगी। आयोजकों ने बताया कि रैली में 1 लाख से अधिक लोग एकत्रित होंगे। 

150 सीसीटीवी कैमरे व 5 ड्रोन रखेंगे नजर
एसपी ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था के लिए रैली स्थल सहित मंडी शहर को 13 सैक्टरों में विभाजित किया गया है। सिविल ड्रैस और पुलिस वर्दी में पुलिस जवान रैली स्थल सहित शहर में तैनात रहेंगे, वहीं 150 सीसीटीवी कैमरे भी स्थापित किए गए हैं। इसके अलावा 5 ड्रोन कैमरों से नजर रखी जाएगी। संदिग्ध के बारे में पुलिस से रिपोर्ट करें। जांच के लिए 4 अतिरिक्त नाके लगाए बनाए गए हैं, वहीं जिले के प्रवेश स्थलों पर संबंधित पुलिस थानों की टीमों को तैनात किया गया है। वीआईपी मूवमैंट को देखते हुए कुछ समय के लिए वाहनों की आवाजाही रोकी जाएगी, वहीं एनएच पर वाहनों की आवाजाही में रोक नहीं रहेगी।

वीवीआईपी के आते ही नहीं उड़ेगा कोई भी ड्रोन
रैली के दौरान सुरक्षा व्यवस्था और किसी तरह की गड़बड़ न हो, इस पर नजर रखने के लिए पुलिस ड्रोन की मदद लेगी लेकिन वीवीआईपी की मूवमैंट और रैली स्थल पर ड्रोन का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। रैली शुरू होने से 4 घंटे पहले 2 घंटे बाद भी ड्रोन नहीं चलाए जाएंगे। अगर रैली स्थल पर ड्रोन का इस्तेमाल करना होगा तो इसकी एसपीजी से अनुमति ली जाएगी। 

रैली में ये चीजें न लाएं अपने साथ
रैली में स्मार्ट वॉच, बड़े बैग, हैंड बैग, लेडी पर्स, पैक बैग, गाड़ी की चाबी, फ्लैग रॉड, फूड आइटम, टोपी, छाता व छड़ी लाने पर पाबंदी रहेगी। इसके अलावा पानी की बोतल भी साथ लाने में मनाही रहेगी, आयोजकों द्वारा पानी मैदान में उपलब्ध करवाया जाएगा। केवल मोबाइल ही रैली स्थल में ले जाने की अनुमति होगी लेकिन उसकी भी जांच की जाएगी। 

शरारती तत्वों पर नजर रखेंगी क्यूआरटी और मोबाइल पैट्रोलिंग टीमें 
रैली के दौरान लॉ एंड ऑर्डर बनाए रखने के लिए शहर में 15 क्यूआरटी और मोबाइल पैट्रोङ्क्षलग टीमें विभिन्न स्थलों पर तैनात रहेंगी जोकि शरारती तत्वों पर नजर रखेंगी।

कलखर से नैरचोक रहेगा वन-वे
कलखर से नेरचौक तक की सड़क को 24 सितम्बर के दिन वन-वे किया गया है। इस सड़क से कलखर से नेरचौक की तरफ आ सकते हैं, जा नहीं सकते। नेरचौक से कलखर की तरफ जाना है तो उन्हें रत्ती-बाल्ट-लेदा होते हुए कलखर भेजा जाएगा। पुलघ्राट से चक्कर तक वन-वे रहेगा तथा चक्कर से चड़लाय से ट्रैफिक को डायवर्ट किया जाएगा। यहां से नलसर और चक्कर की तरफ जाने वाले वाहन अलग-अलग भेजे जाएंगे। विक्टोरिया पुल से किसी भी वाहन के शहर में प्रवेश पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगी, यहां से मंडी शहर से बाहर ही जाने दिया जाएगा। महामृत्युंजय मंदिर चौक से वाहनों को एंट्री नहीं दी जाएगी, यहां से किसी को बाहर जाना होगा तो वाया रामनगर होते हुए जाने की अनुमति रहेगी। शहर में आने के लिए नए भ्यूली पुल से बस स्टैंड से होते हुए प्रवेश किया जा सकता है। वीआईपी मूवमैंट के दौरान अगर जरूरत पड़ी तो जोगिंद्रनगर की तरफ जाने वाले वाहनों को ढांगसीधार वाया छिपणू से होते हुए कटौला रोड से भेजा जाएगा। 

यहां पर डायवर्ट किए जाएंगे वाहन
सुंदरनगर से मनाली की तरफ ट्रैफिक डायवर्ट किया जाएगा। डडौर-बग्गी-चैलचौक-गोहर से होते हुए वाहनों को पंडोह भेजा जाएगा। इसके अलावा जोगिंद्रनगर से सुंदरनगर जाने वाले वाहनों को वाया कोटली भेजा जाएगा। इसके अलावा जोगिंद्रनगर की तरफ से कुल्लू आने-जाने के लिए कटौला-कमांद सड़क का इस्तेमाल किया जाएगा। 

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Related News

Recommended News