अस्पताल के नाम पर बना दिया आलीशान भवन, सुविधाएं देना भूली सरकार

अस्पताल के नाम पर बना दिया आलीशान भवन, सुविधाएं देना भूली सरकार

हमीरपुर: वर्ष 2014 में करीब डेढ़ करोड़ रुपए की लागत से लंबलू में आयुर्वैदिक अस्पताल का निर्माण किया गया था। इस अस्पताल में 24 घंटे की सुविधा व पंचकर्मा की सुविधा का प्रावधान करने के भी निर्देश दिए गए थे। इन सब सुविधाओं को सुचारू रूप से चलाने के लिए सरकार ने 2 मंजिला इमारत की मंजूरी दी लेकिन इतने बड़े भवन निर्माण के बाद अस्पताल में केवल 2 डाक्टरों के अलावा अन्य 3 कर्मचारी ही इस समय तैनात हैं जबकि पैरा-मैडीकल स्टाफ शून्य के बराबर है। इतने बड़े भवन का निर्माण कुल 5 लोगों को रोजगार देने के लिए किया गया है जो एक चिंतनीय विषय है। 

रात में मरीजों को देखने के लिए कोई डाक्टर नहीं
डाक्टर, नर्स व अन्य कर्मचारियों के इस अभाव के चलते रात को मरीजों को देखने के लिए कोई डाक्टर मौजूद नहीं होता जिस कारण अस्पताल 24 घंटे की सुविधा नहीं दे पा रहा है। इसके साथ ही इतने बड़े अस्पताल में मरीजों के लिए 10 बिस्तरों का ही प्रावधान है। अस्पताल में लिफ्ट लगने की भी मंजूरी दी गई थी जिसे अस्पताल में आज तक नहीं लगाया है, साथ ही पंचकर्मा के लिए दी गई मंजूरी पर भी अस्पताल में कोई कार्यवाही देखने को नहीं मिलती। यहां आए मरीजों को सुविधा की मंजूरी होने के बाद भी लोगों को सही रूप से लाभ नहीं मिल पा रहा है जिसके अभाव में लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। सरकार ने इतने बड़े भवन निर्माण को व इसमें मिलने वाली तमाम सुविधाओं को मंजूरी तो दे दी लेकिन इन सुविधाओं को चलाने व इनके उपयोग के लिए निर्धारित कर्मचारियों को रखना भूल गई है।

क्या कहते हैं लोग
लोगों का कहना है कि डाक्टरों की कमी के चलते हमें बहुत देर तक इंतजार करना पड़ता है व लंबी लाइन में लगना पड़ता है। पंचकर्मा की सुविधा देने की बात कही थी जिसके लिए हमें हमीरपुर के आयुर्वैदिक अस्पताल में ही जाना पड़ता है। भवन तो बहुत बड़ा बना दिया गया है लेकिन यहां मूलभूत सुविधाओं का प्रावधान नहीं है। अस्पताल में स्टाफ की बहुत कमी है जिस कारण मरीजों को बहुत मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। रात्रि को क्षेत्र में कोई बीमार हो जाता है तो उसे इस बड़े अस्पताल में कोई सुविधा नहीं मिलती। अब तो इतना बड़ा भवन सफेद हाथी नजर आता है जोकि लोगों का मुंह चिढ़ाता प्रतीत होता है।



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन