नौकरी से निकाले जाने पर कर्मचारी ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर लगाई ये गुहार

नौकरी से निकाले जाने पर कर्मचारी ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर लगाई ये गुहार

शिमला :महालेखाकार कार्यालय में अनुबंध पर कार्यरत डाटा एंट्री के पद पर कार्यरत कर्मचारी को गलत तरीके से निकाले जाने पर पुन: इसी कार्यालय में मल्टी टास्कींग के पद पर नियुक्ति किए जाने को लेकर प्रार्थी केवलराम व सीमा दमसेठ ने सीधी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से पत्र लिखकर गुहार लगाई है। पत्र में कहा गया है कि वर्ष 2006 में हमें महालेखाकार कार्यालय में कम्प्यूटर डाटा एंट्री के पद पर अस्थायी तौर पर नियुक्त किया गया था।

पार्थियों ने राष्ट्रपति से किया आग्रह 
नियुक्ति के लगभग 5 वर्ष का समय बीत जाने के बाद बिना किसी लिखित हम सभी अनुबंध कर्मचारियों को ब्रेक कहकर कार्यालय से निकाल दिया गया, हमने इस बात का विरोध भी किया तथा कार्यालय प्रशासन से भी इस विषय पर निवेदन किया, परंतु हमें उपरोक्त कार्यालय द्वारा कोई उचित उतर नहीं दिया गया। कार्यालय द्वारा बाद में किसी ठेकेदार के द्वारा किसी अन्य व्यक्तियों को इन पदों में लगाया गया। पार्थियों ने राष्ट्रपति से आग्रह किया कि वर्तमान समय में कार्यालय प्रधान महालेखाकार, शिमला में मल्टी टास्कींग सर्विस के कुछ पद रिक्त पड़े हैं। उपरोक्त तथ्यों को मद्देनजर रखते हुए हमें भी इस पद के लिए विशेष अवसर दिया जाए।

 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!