हिमाचल में लागू रूसा सिस्टम पर धूमल ने दिया बड़ा बयान, पढ़िए क्या कहा

हिमाचल में लागू रूसा सिस्टम पर धूमल ने दिया बड़ा बयान, पढ़िए क्या कहा

हमीरपुर: पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने शिक्षक दिवस पर प्रदेश के सभी शिक्षकों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि शिक्षक और शिष्य का नि:स्वार्थ भाव का रिश्ता होता है। इसलिए शिक्षक और शिष्य के इस पवित्र रिश्ते का विश्वास बनाए रखें। उन्होंने कहा कि शिक्षा का व्यापारीकरण नहीं होना चाहिए इसलिए भाजपा रूसा के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता में आते ही रूसा सिस्टम को बंद करेगी। उन्होंने शिक्षक दिवस पर प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने शिक्षक दिवस पर शिक्षकों को सम्मानित करने में भी कंजूसी बरती है जबकि नारायण सेवा संस्थान ने प्रदेश भर के 51 शिक्षकों को सम्मानित कर गुरु के नाम को सम्मान दिया है। 
PunjabKesari
भाजपा के कार्यकाल में अग्रणी राज्य बनकर उभरा हिमाचल
मंगलवार को बचत भवन में आयोजित नारायण सेवा संस्थान के सौजन्य से 51 शिक्षकों को सम्मानित करने के उपरांत प्रैस वार्ता में उन्होंने कहा कि पूर्व भाजपा सरकार के कार्यकाल में सड़क, शिक्षा और स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का लक्ष्य रखा था, जिसके परिणामस्वरूप हिमाचल प्रदेश शिक्षा के क्षेत्र में पूरे देश में अग्रणी राज्य बनकर उभरा था। उन्होंने कहा कि शिक्षा के स्तर को ऊपर उठाने के लिए जब तक प्रयास तेज नहीं होंगे तब तक प्रदेश और देश का विकास संभव नहीं हो सकता है। इस अवसर पर उनके साथ भाजपा नेता रसील सिंह मनकोटिया, विजय पाल सोहारू और अंकुश दत्त शर्मा भी मौजूद रहे। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!