हिमाचल में बारिश से मौसम हुआ Cool-Cool, तूफान व ओलावृष्टि से कई जगह फसलों को नुक्सान

5/28/2020 9:14:19 PM

शिमला (ब्यूरो): हिमाचल प्रदेश में बीते सप्ताह से पड़ रही भीषण गर्मी के बीच बुधवार को मौसम के मिजाज बिगड़ गए, जिसके चलते वीरवार दूसरे दिन भी प्रदेश के मध्यम तथा मैदानी क्षेत्रों सहित पहाड़ों में भी तेज हवा के साथ बारिश का सिलसिला रुक-रुक कर जारी रहा। कई जगह तूफान के साथ ओलावृष्टि भी हुई। प्रदेशभर में हुई बारिश से मौसम काफी सुहावना हो गया है। मैदानी क्षेत्रों में पड़ रही गर्मी से लोगों को ताजा बारिश से काफी राहत मिली। हालांकि तेज आंधी-तूफान के कारण लोगों को परेशानी भी झेलनी पड़ी। मंडी जिला के बल्ह क्षेत्र के लेदा गांव में अंधड़ से पशु चिकित्सालय की छत उडऩे से 2 कर्मचारियों सहित 4 लोग घायल हो गए।
PunjabKesari, Sparrow Image

अगले 6 दिन मौसम के तेवर खराब रहने की संभावना 

राजधानी शिमला में दोपहर के समय बादलों की गर्जना के साथ जोरदार बारिश हुई और दिन में ही रात जैसा नजारा हो गया। इस दौरान वाहन चालकों को वाहनों की लाइटें जलाकर चलना पड़ा। वहीं तेज बारिश व हवा से बिजली भी कुछ देर के लिए गुल रही। गर्मी से झुलस रहे मैदानी इलाकों हमीरपुर, बिलासपुर, ऊना, मंडी, कांगड़ा और सोलन जिला में तूफान के साथ बादल बरसे। मौसम विभाग ने वीरवार को तूफान के साथ बारिश होने का अलर्ट जारी किया था जोकि सही साबित हुआ। विभाग ने मैदानी व मध्यपर्वतीय इलाकों में अगले 2 दिन भी आंधी के साथ बारिश की चेतावनी जारी की है, वहीं अगले 6 दिन मौसम के तेवर खराब रहने की संभावना जताई है।
PunjabKesari, Ridge Ground Image

29 व 30 मई को 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलेगा तूफान

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह के मुताबिक 29 व 30 मई तक मैदानों और मध्यवर्ती इलाकों में 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तूफान चलने तथा तेज बारिश होने का अलर्ट जारी किया गया है। पूरे प्रदेश में पहली जून तक रुक-रुक कर बारिश का दौर जारी रहेगा। मैदानी क्षेत्रों में 2 व 3 जून को मौसम साफ  रहेगा लेकिन मध्यवर्ती व उच्चपर्वतीय क्षेत्रों में इस दौरान बारिश व बर्फबारी की संभावना है।
PunjabKesari, Ridge Ground Image

अप्पर शिमला व किन्नौर में ओलावृष्टि से सेब व गुठलीदार फलों को नुक्सान

वहीं अप्पर शिमला के कुछ स्थानों में ओलावृष्टि होने से सेब व गुठलीदार फलों को नुक्सान पहुंचा है। वहीं किन्नौर जिला की भावा वैली में वीरवार को जोरदार ओलावृष्टि हुई, जिससे क्षेत्र के सेब और अन्य फसलों को भारी नुक्सान हुआ है। ओलावृष्टि से खासकर सेब की फसल को काफी क्षति पहुंची है। भावा वैली के काफनू, कटगांव, यांगपा, हुरी, कराबा और होमते सहित कई गांवों में ओलावृष्टि हुई है। कोरोना संक्रमण के आज हुई ओलावृष्टि ने बागवानों की चिंता और अधिक बढ़ा दी है।
PunjabKesari, Hailstrom Image


Vijay

Related News