चंडीगढ़-मनाली NH पर 7 मील के पास भूस्खलन, वाहनों पर गिरी चट्टानें

7/31/2021 11:35:03 PM

मंडी/पंडोह (रजनीश/ब्यूरो): चंडीगढ़-मनाली नैशनल हाईवे पर स्थित 7 मील के पास पहाड़ से पत्थर गिरने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार रात को निर्माणाधीन फोरलेन में 7 मील के पास भूस्खलन होने से सब्जी से भरी जीप इसकी चपेट में आ गई। चालक ने जीप को वहीं छोड़ भाग कर जान बचाई। शनिवार सुबह करीब 9.30 बजे 7 मील में भी पहाड़ी से चट्टान गिरने से एक कार और स्कूटी चपेट में आने से बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। इन दोनों हादसों में जीप चालक सहित सहित कार और स्कूटी सवार को मामूली चोटें आई हैं।
PunjabKesari, Crushed Car Image

होशियारी से काम न लेते तो हो सकता था बड़ा हादसा

शुक्रवार रात को बरसात के कारण करीब 10 बजे 7 मील के पास पहाड़ से काफी बड़ी चट्टानें व पत्थर सड़क पर आ गिरे। इस दौरान सब्जी ले जा रही जीप पर भी कुछ पत्थर व चट्टानें गिर गईं। चालक होशियारी से काम लेते हुए अपनी जान बचाने में कामयाब रहा। इस स्थान से कुछ दूरी पर सड़क किनारे खड़ी कार और एक स्कूटी पर पहाड़ी से भारी चट्टान गिर गई। गनीमत रही कि कार में बैठे लोगों को पहाड़ी से चट्टान गिरने का पता चल गया और वे कार को वहीं पर छोड़कर सुरक्षित जगह पर भाग गए। अगर वे ऐसा न करते तो कोई बड़ा हादसा हो सकता था।
PunjabKesari, Landslide Image

भूस्खलन के चलते प्रशासन ने डायवर्ट किया यातायात 

भूस्खलन को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने छोटे वाहनों के लिए मंडी शहर से वैकल्पिक मार्ग से कटौला होते हुए यातायात को डायवर्ट किया जबकि पंडोह से वाहनों को वाया गोहर-चैलचौक मार्ग से भेजा गया। इसके साथ मालवाहक वाहनों को आगे नहीं जाने दिया गया और एचआरटीसी सहित बाहरी राज्यों की बसें कुल्लू-मनाली न जाकर मंडी बस अड्डे में खड़ी करनी पड़ीं।
PunjabKesari, Fourlane Work  Image

फोरलेन निर्माण कार्य बन रहा भूस्खलन का कारण

बिंद्रावणी से लेकर पंडोह तक फोरलेन निर्माण कार्य की कटिंग की जा रही है। बताया जा रहा है कि कटिंग के लिए ब्लासिं्टग का भी प्रयोग किया जा रहा है। इस कारण पहाडिय़ां कमजोर हो गई हैं और अब बरसात शुरू होने के कारण कटिंग की जगह पर बारिश का पानी जमा होने से भूस्खलन हो रहा है। हैरानी की बात यह है कि वाहन चालकों के लिए चेतावनी बोर्ड तक नहीं हैं।

15 घंटे बाद बहाल हुआ एनएच

चट्टानें गिरने से बंद हुआ एनएच 15 घंटे के बाद यातायात के लिए बहाल हो पाया। शनिवार बाद दोपहर करीब 3 बजे  मार्ग यातायात के लिए बहाल हुआ। भूस्खलन की जगह पर एक भाग को वाहनों की आवाजाही के लिए खोला गया। एनएच बंद होने के कारण 7 मील से पंडोह और मंडी की तरफ करीब 3 किलोमीटर तक लंबा जाम लगा रहा। नैशनल हाईवे पर रात भर करीब एक हजार वाहन फंसे रहे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Recommended News

static