दो साल के लिए की जाएगी लैपटॉप की खरीद

7/19/2021 10:57:41 PM

शिमला (प्रीति): शिक्षा विभाग इस बार दो साल के लिए लैपटॉप की खरीद करने जा रहा है। ऐसे में शैक्षणिक सत्र 2018-19 और 2019-20 के मेधावियों को अब जल्द लैपटॉप मिलने की उम्मीद है। राज्य इलैक्ट्रॉनिक्स विकास निगम इसके लिए टैंडर करेगा। शिक्षा विभाग ने निगम को एक माह के भीतर यह प्रक्रिया पूरी करने को कहा है, ताकि मेधावियों को जल्द लैपटॉप दिए जा सकें। बताया जा रहा है कि शिक्षा विभाग ने एक साल के टैंडर के लिए निगम क ो 25 करोड़ जारी कर दिए हैं। अब इतनी ही राशि दूसरे वर्ष के टैंडर के लिए जारी की जाएगी। अभी शैक्षणिक सत्र 2018-19 के मेधावियों को ये लैपटॉप मिलने प्रस्तावित हैं।

शिक्षा विभाग में 10वीं, 12वीं और कालेज के 9700 मेधावी छात्रों के लिए ये लैपटॉप खरीदे जाने हैं। इसमें दसवीं कक्षा के 4400 व जमा दो के 4400 सहित कालेज के 900 मेधावी छात्रों को लैपटॉप मिलेंगे। हालांकि वर्ष 2019-20 के लिए विभाग ने अभी छात्रों की सूची स्कूलों और कालेजों से नहीं मांगी है, लेकिन जल्द ही विभाग शिक्षण संस्थानों से यह सूची मंगवा सकता है। योजना के अनुसार मैरिट में आने वाले छात्रों को लैपटॉप दिए जाते हैं। उच्च शिक्षा विभाग के निदेशक डा. अमरजीत कुमार शर्मा का कहना है कि राज्य इलैक्ट्रॉनिक्स विकास निगम को जल्द लैपटॉप खरीद के लिए टैंडर करने क ो कहा गया है। निगम ने इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी है।

कालेजों को आपदा प्रबंधन योजना बनाने के निर्देश
शिक्षा विभाग ने सभी डिग्री कालेजों, संस्कृत, फाइन आर्ट्स कालेज और पी.जी. कालेजों को आपदा प्रबंधन योजना बनाने के निर्देश दिए हैं। इसके तहत कालेज प्रधानाचार्यों को कहा गया है कि वे 26 जुलाई से पहले यह योजना तैयार कर उच्चतर शिक्षा निदेशालय को भेजें। इसमें कालेजों को बताना होगा कि यदि कोई प्राकृतिक आपदा आती है तो कालेजों के पास इससे निपटने के क्या साधन हैं। कालेज या आसपास ऐसा कौन-सा स्थान है, जहां पर आपदा के समय छात्रों को शिफ्ट किया जा सकता है। प्रदेश के पांच जिले चम्बा, हमीरपुर, कांगड़ा, कुल्लू और मंडी भूकंप के लिहाज से अति संवेदनशील हैं। भूकंप के अलावा अन्य तरह की प्राकृतिक आपदा भी प्रदेश में आ सकती है। इसे देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग ने सभी विभागों को इस पर योजना तैयार करने को कहा था। इसी कड़ी में शिक्षा विभाग यह योजना तैयार कर रहा है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Kuldeep

Recommended News

static