पुलिसकर्मियों के परिजनों ने रोका था नड्डा का रास्ता, एडीजीपी करेंगे जांच

punjabkesari.in Monday, Dec 06, 2021 - 10:57 AM (IST)

बिलासपुर : भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा रविवार को जब एम्स जा रहे थे तब पुलिसकर्मियों के परिजनों ने उनका रास्ता रोक लिया था और अपनी मांगों के समर्थन में ज्ञापन सौंपा था। हालांकि बाद में पुलिस ने 10 परिजनों को हिरासत में लिया था। इस पूरे मामले को पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने गंभीरता से लिया है और पूरे मामले की जांच का जिम्मा लॉ एंड ऑर्डर के एडीजीपी अशोक तिवारी को सौंपा है। बता दें कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा बिलासपुर में एम्स की ओपीडी के उद्घाटन के लिए बिलासपुर आए थे। इस दौरान पुलिस कर्मियों के परिजनों ने नड्डा के काफिले को रोक लिया। पुलिस कर्मियों के परिजन हाथों में जस्टिस फॉर एचपी पुलिस के बैनर लिए खड़े थे। ये सभी लोग जेपी नड्डा की गाड़ी के सामने आ गए। करीब एक मिनट तक उन्होंने नड्डा काफिला रोके रखा और उन्हें ज्ञापन सौंपा। हालांकि इन लोगों को नड्डा ने आश्वासन दिया कि उनकी बात सुनी जाएगी। इसके बाद काफिला आगे बढ़ा। 

इस मामले में पुलिस ने पुलिस कर्मियों के 10 परिजनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने इन लोगों के स्वजनों पर धारा-147 व 341 के तहत मामला दर्ज हुआ है। पुलिस अधीक्षक एसआर राणा ने बताया कि लोगों का ज्ञापन देने का तरीका गलत था। उन्होंने कहा कि प्रदर्शन के दौरान ट्रैफिक व्यवस्था में बाधा उत्पन्न हुई। इसके चलते प्रदर्शन करने वालों पर कानूनी कार्रवाई बनती है। एसपी ने कहा कि 10 लोगों पर मामला दर्ज किया गया है। आवश्यक कार्रवाई को अमल में लाया जा रहा है। 

डीजीपी ने एडीजीपी को यैलो बुक के प्रावधानों के उल्लंघन के बिंदू पर जांच करने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही सुरक्षा तोड़ने को लेकर भी जांच की जाएगी। डीजीपी संजय कुंडू ने आदेश में ये भी कहा है कि एडीजीपी मौके का दौरा करने के बाद विस्तृत रिपोर्ट सौंपेंगे, ताकि उचित कदम उठाए जा सकें। भविष्य में वीआईपी के टूर को लेकर इस तरह की चूक ना हो। अहम बात यह है कि एडीजीपी स्तर के अधिकारी को यह जांच 7 दिसंबर को सुबह 11 बजे तक सौंपनी है। इसके अलावा पुलिस महानिदेशक ने बिलासपुर के एसपी से सोमवार सुबह 10 बजे तक विस्तृत रिपोर्ट तलब की है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Related News

Recommended News