शिंकुला दर्रा बहाल, सिर्फ फोर बाई फोर वाहन ही आ-जा सकेंगे

punjabkesari.in Monday, Nov 28, 2022 - 09:18 PM (IST)

पतलीकूहल (ब्यूरो): साढ़े 15 हजार फुट ऊंचा शिंकुला दर्रा बहाल हो गया है। बी.आर.ओ. ने दर्रे से बर्फ  हटाकर इसे वाहनों के लिए बहाल कर दिया है। प्रशासन ने भी शिंकुला दर्रे को दोपहर 11 से शाम 4 बजे के बीच सिर्फ फोर बाई फोर वाहनों से ही आर-पार करने की अनुमति दी है। इससे जांस्कर घाटी के लोगों को राहत मिल गई है। घाटी के लोगों को शिंकुला दर्रे से होकर कुल्लू-मनाली आने में आसानी हुई है। 17 नवम्बर को बर्फबारी होने से शिंकुला दर्रा बंद हो गया था, तब से जांस्कर घाटी के लोगों की दिक्कत बढ़ गई थी।

शिंकुला दर्रे में टनल बनना प्रस्तावित है। हालांकि बी.आर.ओ. अभी निर्माण कार्य की औपचारिकताएं करने में जुटा है लेकिन मार्ग खुला होने से जांस्कर घाटी के लोगों को राहत मिल गई है। मनाली-लेह मार्ग सर्दियों के चलते बंद हो गया है। बी.आर.ओ. इस मार्ग को अब गर्मियों में ही बहाल करेगा, लेकिन बी.आर.ओ. शिंकुला दर्रे को अधिकतर समय बहाल रखेगा, जिससे जांस्कर घाटी सहित लेह-लद्दाख के लोगों को आने-जाने की सुविधा हो सकेगी। दूसरी ओर मनाली-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग अभी दारचा तक खुला है। पांगी-किलाड़ राजमार्ग भी सभी वाहनों के लिए खुल गया है।

बी.आर.ओ. के अधिकारी ने बताया कि बी.आर.ओ. सर्दियों में अधिक से अधिक समय तक शिंकुला दर्रे को बहाल रखने का प्रयास करेगा। लाहौल-स्पीति पुलिस अधीक्षक मानव वर्मा ने कहा कि शिंकुला दर्रा वाहनों की आवाजाही के लिए बहाल है। सुबह 11 बजे से 4 बजे के बीच सफर करने की अनुमति है। उन्होंने कहा कि शिंकुला दर्रे पर फोर व्हील ड्राइव वाहनों की आवाजाही की ही अनुमति रहेगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Kuldeep

Related News

Recommended News