पालमपुर के इस अस्पताल में भेजी पुरानी अल्ट्रासाऊंड मशीन, भड़के लोग

9/24/2019 10:51:25 AM

पालमपुर (मुनीष) : सिविल अस्पताल चढियार में सुविधाओं के नाम पर की जा रही खानापूर्ति को लेकर लोगों में गुस्सा बढ़ने लगा है। सोमवार को अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग द्वारा वापस स्थापित की जा रही अल्ट्रासाऊंड मशीन को लेकर लोगों ने रोष प्रकट किया। इस अस्पताल में कुछ दिन पहले नई अल्ट्रासाऊंड मशीन स्थापित की गई थी, मगर कोई रेडियोलॉजिस्ट न होने के कारण स्वास्थ्य विभाग ने कुछ माह पहले इस मशीन को अन्य स्थान पर शिफ्ट कर दिया था। इसके बाद लोगों में रोष था। इस समस्या को लेकर धार चढियार संघर्ष समिति के सदस्य व स्थानीय लोग बैजनाथ के विधायक मुल्ख राज प्रेमी से मिले थे।

उन्होंने आश्वासन दिया था कि इस अल्ट्रासाऊंड मशीन को 5 दिन में चढियार अस्पताल में वापस भेज दिया जाएगा। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी जब इस मशीन को लेकर अस्पताल पहुंचे तो स्थानीय लोग हैरान रह गए। पता करने पर जानकारी मिली कि यह पुरानी मशीन है, जो बैजनाथ से भेजी गई है। इस मशीन को बनाने का वर्ष भी 1999 अंकित था। इसके बाद लोगों में गुस्सा फिर भड़क गया तथा लोगों ने नारेबाजी शुरू कर दी। इसके बाद उन्होंने इस मशीन को भी वापस भिजवा दिया।

धार चढियार संघर्ष समिति के पदाधिकारियों का कहना है कि यह अस्पताल काफी पुराना है, लेकिन आज तक इस अस्पताल में सुविधाएं नाममात्र की दी गई है। उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार और विधायक मुल्ख राज प्रेमी से इस मामले में तुरंत हस्तक्षेप करने की मांग की है तथा यहां सुविधाएं उपलब्ध करवाने का आग्रह किया है।

मशीन को कुछ दिन के लिए शिफ्ट किया गया है : बी.एम.ओ.

चिकित्सा अधिकारी महाकाल डा. दिलावर सिंह ने बताया कि यहां आई मशीन को कुछ दिन के लिए शिफ्ट किया गया है, उसे जल्द वापस लाकर स्थापित कर दिया जाएगा। यहां के लोगों को सुविधा देने के लिए विभाग ने स्थानीय विधायक के निर्देश पर तुरंत कदम उठाया है। जो मशीन भेजी गई है, वह ठीक चलने की हालत में है। ऐसे में इस व्यवस्था को शुरू करवाने में लोगों को सहयोग देना चाहिए।

अल्ट्रासाऊंड न हों तो बोलें लोग : प्रेमी

इस बारे विधायक मुल्ख राज प्रेमी ने कहा कि चढियार अस्पताल में पहली बार अल्ट्रासाऊंड की व्यवस्था की जा रही है। सप्ताह में 2 दिन यहां अल्ट्रासाऊंड होंगे। स्टाफ की कमी को दूर किया जा रहा है। यदि यहां अल्ट्रासाऊंड नहीं होंगे, तब लोग कुछ बोलें। कुछ दिन पहले लोग मुझसे मिले थे, उसी समय मैंने आदेश जारी किए कि यहां अल्ट्रासाऊंड की व्यवस्था करवाई जाए। लोगों से अपील है कि वे भी सहयोग करें।


Edited By

Simpy Khanna

Related News