नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने प्रदेश सरकार पर कोविड वैक्सीनेशन में जड़े घोटाले के आरोप

punjabkesari.in Monday, Dec 06, 2021 - 11:56 AM (IST)

ऊना (अमित शर्मा) : नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने जयराम सरकार पर शब्दबाणों के जरिये प्रदेश को पूरा वैक्सीनेट घोषित करने पर हमला बोला है। मुकेश ने कहा कि कोविड वैक्सीनेशन में बड़े स्तर पर घोटाला हुआ है। उन्होंने कहा कि कई लोगों को बिना वैक्सीन लगवाए ही सर्टिफिकेट जारी कर दिए गए है और कई मृत लोगों को भी सर्टिफिकेट जारी किये गए है। जयराम सरकार सिर्फ अपनी उपलब्धि बढ़ाने के लिए झूठे आंकड़े पेश कर रही है। इस दौरान मुकेश अग्निहोत्री पुलिस कर्मियों के भी खुलकर समर्थन में आ गए है। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस कर्मियों की मांगो को पूरा नहीं किया गया तो आगामी विधानसभा सत्र में इस मुद्दे को जोरशोर से उठाया जायेगा। इन चार सालों में प्रदेश की भाजपा सरकार पूरी तरह से फेल रही है। जिन वायदों को लेकर यह सरकार सत्ता में आई थी उन्हें अभी तक पूरा नहीं किया गया है और अब अंतिम वर्ष में सरकार आनन फानन में एलान पर एलान किये जा रही है। 

हिमाचल प्रदेश को कोविड 19 टीकाकरण का शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने वाले राज्य की एलान होने के बाद विपक्ष ने सरकार को निशाने पर लेना शुरू कर दिया है। नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कोविड वैक्सीनेशन को लेकर सरकार को घेरते हुए गंभीर आरोप जड़े है। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि उपचुनाव में मिली हार से ध्यान हटाने के लिए जयराम सरकार ने प्रदेश को पूर्ण टीकाकरण करने वाला राज्य घोषित किया है। प्रदेश में कई लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज के बिना और कई मृत लोगों को ही दूसरी खुराक दिए जाने के सर्टिफिकेट जारी कर दिए गए है। वैक्सीनेशन में हिमाचल में एक बड़ा घोटाला हुआ है। जब लोगों को दूसरी डोज लगी ही नहीं और उन्हें सर्टिफिकेट जारी हो गए है तो वो डोज कहां गई। सरकार बहुत जल्दबाजी में ऐसे निर्णय ले रही है और सरकार चार साल में अपनी चार उपलब्धियां गिनाने में लगी है। उन्होंने कहा कि एम्स अभी बनकर तैयार नहीं हुआ है और उसका उदघाटन कर दिया गया है। उपचुनावों में हार के बाद अपनी उपलब्धियों की चर्चा करवाने के लिए ऐसे एलानों में जुटी है। 

मुकेश अग्निहोत्री ने सरकार से पुलिस कर्मियों की वेतन विसंगति को जल्द दूर करने की मांग उठाई है। मुकेश ने कहा कि क्या पुलिस कर्मियों को कर्मचारी नहीं मानती है और अगर उन्हें कर्मचारी मानती है तो उन्हें अन्य कर्मचारियों की तरह लाभ क्यों नहीं दिए गए। अब पुलिस कर्मियों के परिवारों को न्याय के लिए सड़कों पर उतरना पड़ गया है। अगर सरकार पुलिस कर्मियों के मुद्दों को जल्द नहीं सुलझाएगी तो आने वाले विधानसभा सत्र में इस मांग को जोरशोर से उठाया जाएगा। मुकेश ने कहा कि उपचुनावों में हार के बाद सरकार चार साल पूरे होने का जश्न मनाने जा रही है जबकि इन्हें जनता ने पूरी तरह से नकार दिया है। चुनावों में बड़े बड़े वादे करके यह सरकार सत्ता में आई थी लेकिन उन वादों को पूरा करने में यह सरकार नाकाम रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने कर्जे लेकर प्रदेश को दिवालियापन की कगार पर पहुंचा दिया है। मुकेश ने कहा कि जनता ने इस सरकार को प्रदेश से बेदखल करने का मन बना लिया है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Related News

Recommended News