कार्रवाई नहीं हुई तो हाईकोर्ट से इंसाफ विकल्प : निक्का

punjabkesari.in Tuesday, Sep 21, 2021 - 01:30 PM (IST)

नूरपूर (संजीव महाजन) : वन मंत्री राकेश पठानिया के पुत्र पर लगाए गए आरोपों को लेकर जिला भाजपा महामंत्री रणवीर सिंह निक्का आज भी अपनी बात पर कायम हैं। निक्का ने मंगलवार को पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि उन्होंने जो आरोप वन मंत्री के पुत्र पर लगाये हैं वह आज भी उस पर कायम हैं। उन्होंने कहा कि आखिर कैसे एक गाड़ी को दो दो जगह फाइनेंस कर दिया गया और कैसे बिना लोन चुकता किये दूसरे बैंक से गाड़ी को फाइनेंस करवाया गया।

उन्होंने कहा कि पहले केसीसी बैंक से गाड़ी खरीदी जाती है और कुछ ही माह बाद वह गाड़ी वन मंत्री के पुत्र अपने दोस्त को बेच देते हैं। लेकिन बिना एनओसी के गाड़ी दूसरे व्यक्ति के नाम कैसे ट्रांसफर कर दी गई। जबकि नियमानुसार जब तक गाड़ी का लोन चुकता नहीं किया जाता गाड़ी किसी अन्य व्यक्ति के नाम ट्रांसफर नहीं हो सकती। वहीं जिस व्यक्ति को यह गाड़ी बेची गई उसने भी आगे एक अन्य बैंक से गाड़ी के नाम पर लोन ले लिया। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले में साफ जाहिर हो रहा है कि नकली दस्तावेजों का सहारा लेकर इस काम को अंजाम दिया गया है। 

उन्होंने कहा कि इस मामले में उन्होंने प्रदेश सरकार, एसपी और विजिलेंस को शिकायत पत्र दिया है और उन्हें उम्मीद है कि जल्द इस पर बिना कोई पक्षपात किए कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि मैं राजनीति चमकाने के लिए काम नहीं कर रहा हूं, बल्कि मैं पिछले 11 सालों से भाजपा पार्टी ने जो जिम्मेदारी सौंपी है, मैं उन उद्देश्यों के लिए पार्टी का काम कर रहा इसलिए मुझे तीसरी बार नूरपूर संगठनात्मक जिला महामंत्री बनाया। मैं असलियत को जानता हूं व पार्टी सामने रख रहा हूं।

उन्होंने यह भी कहा कि अगर भाजपा हाई कमान मुझे टिकट देगी या नहीं देगी मैं क्या करुंगा वो समय आने पर सामने आ जाएगा। क्योंकि जनता भी एक बार मेरी बारी एक बार तेरी बारी से तंग आ चुकी है और जनता तीसरा विकल्प ढूंढ रही है। इस बात को पार्टी भी सोचेगी व पार्टी तय करेगी कौन लोगों के बीच और कितना काम कर रहा है। उन्होंने फोरलेन को लेकर विपक्ष के नूरपूर विधायक पर भी आरोप लगा कि विपक्ष को हर उस बात को उठाना चाहिए जो लोगों के हित में नहीं हो रही और दूसरी बात जब फोरलेन की पहली डीपीआर बनी थी तो तब कांग्रेस पार्टी के विधायक ही थे तब क्यों नहीं उन्होंने इस बारे सोचा। अपने उपर खनन माफिया के आरोप पर कहा कि जो लोग आरोप लगा रहे हैं वह जांच करवा लें हम जो काम कर रहे हैं वह सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Related News

Recommended News