हिमाचल के हर थाने में 15 अप्रैल से शुरू होगी वीरांगना ऑन व्हील्स योजना : संजय कुंडू

punjabkesari.in Wednesday, Apr 14, 2021 - 06:08 PM (IST)

बिलासपुर (मुकेश): हिमाचल प्रदेश के हर थाने में वीरांगना ऑन व्हील्स योजना को आरंभ किया जा रहा है, जिसके तहत किसी भी प्रकार के महिला उत्पीड़न को रोकने के लिए सुगमता रहेगी। यह बात डीजीपी संजय कुंडू ने बिलासपुर में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा ऊना जिला में मंदिर में हुए हत्याकांड को बहुत कम समय में पुलिस ने सुलझाया है। साथ मे यह भी दावा किया कि हिमाचल प्रदेश में आपराधिक घटनाएं कम हुईं हैं लेकिन शून्य नहीं हुई हैं।

मुख्यमंत्री करेंगे वीरांगना ऑन व्हील्स योजना का शुभारंभ

डीजीपी ने बताया कि वीरांगना ऑन व्हील्स योजना को 15 अप्रैल के दिन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर आरंभ करेंगे, जिसके तहत प्रदेश के हर थाने में एक स्कूटी खरीदी जा रही है जिस पर एक महिला कांस्टेबल रहेगी जो किसी भी प्रकार के महिला उत्पीड़न की सूचना मिलते ही तुरंत कार्रवाई करने पहुंचेगी। उन्होंने बताया कि जिस तरह हिमाचल प्रदेश का स्वर्णिम 50वां वर्ष चल रहा है उसी तरह महिला पुलिस का भी यह 50वां वर्ष हिमाचल में है। उन्होंने बिलासपुर में कानून व्यवस्था की स्थिति पर संतोष जताया और कहा कि पिछले वर्षो की अपेक्षा इस वर्ष सभी मामले काफी नियंत्रण में रहे। मादक पदार्थों की रिकवरी अधिक हुई है, वहीं चोरी इत्यादि के मामले भी घटे हैं तथा एक्सीडेंट भी कम हुए हैं। 

बिलासपुर में लगाया जा रहा इंटैलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमैंट सिस्टम

डीजीपी ने कहा कि बिलासपुर के डीसी रोहित जम्वाल ने पुलिस के लिए बहुत मदद की है तथा उनके माध्यम से बिलासपुर जिले के लिए इंटैलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमैंट सिस्टम लगाया जा रहा है। उन्होने कहा कि इंटैलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमैंट सिस्टम को पूरे राज्य में शुरू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने 128 करोड रुपए प्रदेश में पुलिस भवनों के लिए स्वीकृत किए हैं वहीं 13 करोड़ रुपए पुराने वाहनों को बदलने के लिए भी दिए हैं ।

डीसी रोहित जम्वाल को किया सम्मानित

डीजीपी ने बिलासपुर के डीएसपी हैड क्वार्टर राजकुमार की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह काफी काबिल अधिकारी हैं, जिनका बिलासपुर में तबादला हुआ है। इस अवसर पर डीजीपी संजय कुंडू ने डीसी रोहित जम्वाल को पुलिस विभाग की वीरांगना बुक व मोमैंटो देकर तथा बैज लगाकर सम्मानित किया। इससे पहले डीजीपी ने पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर कानून व्यवस्था व इससे जुडे अन्य पहलुओं की समीक्षा की तथा संतोष जताया। इस अवसर पर एसपी दिवाकर शर्मा, डीएसपी मुख्यालय राजकुमार व डीएसपी घुमारवीं अनिल मौजूद रहे।

पुलिस विभाग ने गठित की ऑफिसर्ज बॉडी 

एक प्रश्न के उत्तर में डीजीपी ने कहा कि पुलिस विभाग ने कुछ वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की एक आफिर्स बोडी गठित किया है कि जो इस बात का अध्ययन करेगा कि वर्तमान जरूरतो के हिसाब के कितने थाने, गाड़िंयों, कितने पुलिस अधिकारी व सिपाही, भवनों अन्य सुधारों की कहां-कहां जरूरत है और बेहतर क्या हो सकता हैै। यह ऑफिसर्ज बोडी दो-तीन माह में अपनी रिपोर्ट देगी। इस रिपोर्ट को प्रदेश सरकार को सौंपा जाएगा।

नयना देवी में बनेगी माॅर्डन पुलिस चौकी

डीजीपी ने कहा कि श्री नयना देवी में तिरुवनंतपुरम के सुप्रसिद्ध मंदिर की तर्ज पर श्री नयना देवी में आघुनिक सुविधाओं से लैस पुलिस चौकी बनेगी। जहां पर विभिन्न राज्यांे से आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर सुरक्षा प्राप्त हो सके। उन्होंने बताया कि वह पिछले वर्ष तिरुवनंतपुरमगए हुए थे। उनके साथ श्री नयना देवी पुलिस चौकी के प्रभारी भी गए हुए थे। उन्होंने इस तरह का प्रस्ताव बिलासपुर के उपायुक्त एवं श्री नयना देवी मंदिर न्यास के अध्यक्ष को दिया है। उन्होंने कहा कि अगर मंदिर न्यास इस तरह की आधुनिक पुलिस चौकी व ड्रोन उपलब्ध करवा दे तो इससे जहां श्रद्धालुओं को बेहतर सुरक्षा का माहौल मिलेगा बल्कि सभी तरह की गतिविधियों पर नजर रखी जा सकेेगी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Related News

Recommended News