मंदिर के कपाट बंद, मां नयना के दर्शनों को पंजाब से पहुंच गए युवा श्रद्धालु

2021-06-19T16:44:00.057

नयनादेवी (मुकेश): कोरोना कर्फ्यू के चलते शक्तिपीठ के मंदिर श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ बंद हैं बावजूद इसके पंजाब से श्रद्धालु आए दिन माता नयनादेवी के दरबार में पहुंच रहे हैं लेकिन यहां पर मंदिर के मुख्य द्वार को बंद देखने के बाद वे बिना माता के दर्शन किए अपने घरों को लौट रहे हैं। शनिवार को भी पंजाब से आए युवा श्रद्धालुओं के जत्थे ने माता के जयकारे लगाकर सूने पड़े नयनादेवी मंदिर के बाजार को गुलजार कर दिया। हालांकि यह युवा श्रद्धालु भूखे और प्यासे थे। उन्होंने बताया कि रास्ते में सभी दुकानें बंद मिलीं और माता श्री नयनादेवी के दरबार में भी पूरा बाजार बंद है, जिस कारण उन्हें खाने-पीने के लिए कुछ भी उपलब्ध नहीं हुआ।

वे माताजी के लंगर के पास भी गए लेकिन लंगर भी बंद था। युवा श्रद्धालुओं का कहना था कि वह पंजाब के कपूरथला जिला से आए हैं। उन्होंने सोचा कि जब पूरा हिमाचल खुल गया है और ई-पास के साथ कहीं भी जा सकते हैं। यही सोचकर वे मां के दरबार में दर्शनों के लिए आ पहुंचे। उनका कहना था कि काफी समय से उन्होंने मां के दीदार नहीं किए, इसलिए मां का आशीर्वाद लेने यहां आ गए लेकिन यहां के न तो मां के दर्शन हुए और न ही उन्हें खाने-पीने के लिए कुछ प्राप्त ही हुआ। बावजूद इसके इन श्रद्धालुओं में बहुत उत्साह देखा गया और उन्होंने भंगड़ा भी किया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Recommended News

static