बेटी ने निभाया बेटे का फर्ज, मां की चिता को दी मुखाग्नि

3/6/2021 5:35:11 PM

घुमारवीं (कुलवंत): ऐसा कहा जाता है कि बेटा कुल का दीपक होता है। बेटे के बिना माता-पिता को मुखाग्नि कौन देगा लेकिन अब यह बातें बीते जमाने की हो गई हैं। आज यह पुरानी कुरीति एक बार फिर टूटी। घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत बाड़ी मझेड़वां के गांव करंगोड़ा में एक बेटी ने बेटे का फर्ज निभाते हुए न केवल मां की चिता को मुखाग्नि ही दी अपितु अंतिम संस्कार की हर एक रस्म को निभाया।

बताते चलें कि करंगोड़ा गांव में शुक्रवार शाम शकुंतला देवी पत्नी स्व. रतन लाल धर्माणी की मृत्यु हो गई। शकुंतला देवी लंबे समय से बीमार थीं। इनकी एक बेटी प्रार्थना शर्मा हैं। प्रार्थना शर्मा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला डंगार में प्रवक्ता है। इस अंतिम संस्कार में मृतका की दोहती आशिमा शर्मा भी शामिल हुई। आशिमा शर्मा पेशे से चिकित्सक है तथा सिविल अस्पताल घुमारवीं में भी सेवाएं दे चुकी हैं। शकुंतला देवी के निधन पर खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री राजेंद्र गर्ग, पूर्व विधायक राजेश धर्माणी, मुख्यमंत्री के ओएसडी महेंद्र धर्माणी, पूर्व एडिशनल एडवोकेट जनरल राजेंद्र किशोर शर्मा, पंचायत के उपप्रधान कृण लाल व अनिल धर्माणी ने शोक प्रकट किया है।


Content Writer

Vijay

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static