30 फीसदी अध्यापक रजिस्टर में एक ही समय लगा रहे हैं हाजिरी

punjabkesari.in Tuesday, Dec 07, 2021 - 11:35 AM (IST)

धर्मशाला (नवीन) : अध्यापक रजिस्टर में एक ही समय हाजिरी लगा रहे हैं। कुछ प्रिंसीपल फोन पर ही अध्यापकों द्वारा मांगी गई छुट्टी स्वीकृत कर रहे हैं। स्कूलों की इंस्पेक्शन के दौरान यह बातें सामने आई हैं। जानकारी के मुताबिक उपनिदेशक इंस्पेक्शन (शिक्षा) की अगुवाई में टीम ने पिछले 2 महीनों में करीब 115 स्कूलों का निरीक्षण किया है। इस निरीक्षण में प्राइमरी, हाई, मिडल व सीनियर सेकैंडरी स्कूल शामिल हैं। टीम ने अक्तूबर महीने में 45 व नवम्बर महीने में करीब 70 स्कूलों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान यह बात सामने आई है कि 30 फीसदी अध्यापक रजिस्टर में एक ही समय हाजिरी लगा रहे हैं। कुछ अध्यापक को छुट्टी लेनी होगी तो वह फोन पर ही इमरजेंसी का हवाला देकर छुट्टी की बात प्रिंसीपल को बता देंगे। कुछ प्रिंसीपल उसी आधार पर छुट्टी स्वीकृति दे देते हैं। छुट्टी के लिए फोन पर जानकारी दी जा रही है और रजिस्टर पर छुट्टी भर भी दी जा रही है। हालांकि उपनिदेशक द्वारा कुछ मामलों में संबंधित अध्यापकों व स्कूल इंचार्ज से जबाव तलबी की गई है। संतोषजनक जवाव न देने पर मामला निदेशालय को भेज दिया जाएगा। हालांकि कुछ मामले निदेशालय भी भेज दिए गए हैं। 

क्या कहते हैं नियम

नियमों के तहत 2 समय रजिस्टर में हाजिरी लगानी पड़ती है। उल्लेखनीय है कि कोरोना के चलते बायोमीट्रिक मशीन से हाजिरी बंद है तथा रजिस्टर में ही हाजिरी लगाई जा रही है। वहीं यदि अध्यापक को छुट्टी चाहिए तो छुट्टी की अर्जी इंचार्ज को लिखित में देनी पड़ती है। वहीं छुट्टी स्वीकृति होने के पश्चात ही अध्यापक स्कूल से जा सकते हैं।

सफाई व्यवस्था बेहतर व कोरोना प्रोटोकॉल का हो रहा पालन

निरीक्षण में यह बात भी सामने आई है कि स्कूलों में सफाई व्यवस्था बेहतर है। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन हो रहा है। हालांकि यह बात भी सामने आई है कि स्कूलों में तो विद्यार्थियों द्वारा मास्क लगाए जा रहे हैं लेकिन कुछ विद्यार्थी स्कूल के गेट से बाहर निकलते ही मास्क नहीं पहन रहे हैं।

क्या कहते हैं उपनिदेशक प्रकाश चंद सुकेतिया

उपनिदेशक निरीक्षण (शिक्षा) कांगड़ा प्रकाश चंद सुकेतिया का कहना है कि पिछले 2 महीनों में कई स्कूलों का निरीक्षण किया गया है। कई अध्यापक रजिस्टर में एक ही समय हाजिरी लगा रहे हैं। कई अध्यापक फोन पर ही छुट्टी मांग रहे हैं तथा संबंधित प्रिंसीपल स्वीकृति भी दे रहे हैं। जो नियमों के तहत नहीं है। हाजिरी दिन में 2 बार लगानी चाहिए। यदि अध्यापक को छुट्टी चाहिए तो वह लिखित में अर्जी दे सकता है। हालांकि समय-समय पर डायरेक्शन भी दी जाती है। कुछ मामलों में इंचार्ज से जबाव मांगा गया है। यदि जबाव संतोषजनक नहीं मिलेगा तो आगामी कार्रवाई के लिए आगे भेज दिया जाएगा।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

prashant sharma

Related News

Recommended News