बारिश का कहर : हमीरपुर व कांगड़ा में 2 मकान जमींदोज, बाल-बाल बचे परिवार

8/1/2020 4:55:45 PM

हमीरपुर/कांगड़ा (ब्यूरो): जाको राखे साईयां मार सके न कोए वाली कहावत हमीरपुर और कांगड़ा जिला में उस समय चरितार्थ हुई जब बारिश के चलते 2 मकान जमींदोज हो गए और उसमें रह रहे परिवार बाल-बाल बचे गए। जानकारी के अनुसार हमीरपुर शहर से सटी बजूरी पंचायत के लोहारड़ा गांव में गत रात करीब 3 बजे बारिश के चलते सुरेंद्र कुमार पुत्र बलदेव सिंह का 2 कमरों का स्लेटपोश मकान ढह गया। इस दौरान सुरेंद्र कुमार के माता-पिता व 2 बेटियां उसी मकान में सोए हुए थे जबकि सुरेंद्र व उसकी पत्नी साथ में बने नए घर में सोए हुए थे। जैसे ही मकान के गिरने की आवाज सुरेंद्र कुमार व उसके भाई ने सुनी तो उन्होंने तुरंत क्षतिग्रस्त मकान का दरवाजा तोड़कर अपने माता-पिता व दोनों बेटियों को सुरक्षित बाहर निकाला। इस घटना में सुरेंद्र कुमार का करीब 5 लाख रुपए का नुक्सान हुआ है। डीसी हरिकेश मीणा व एसडीएम डॉ. चिरंजी लाल चौहान के निर्देश पर पटवारी ने प्रभावित परिवार को 5 हजार की फौरी राहत दी है।

कांगड़ा के गग्गल में गिर मकान

उधर, कांगड़ा जिला के गग्गल में शनिवार सुबह प्रात: 3 बजे वार्ड नंबर-3 निवासी विपिन कुमार चौधरी का मकान भारी बारिश के चलते गिरकर धराशायी हो गया। घटना के समय मकान के निचले भाग में रह रहे किराएदार महेश चंद का परिवार इस घटना में बाल-बाल बच गया। महेश चंद ने बताया कि प्रात: छत से जैसे ही मिट्टी गिरने लगी तो वह उठकर अपनी पत्नी व 2 बच्चों को लेकर बाहर भागा। परिवार के बाहर निकलते ही मकान गिर गया। मकान गिरने से किराएदार का सामान तबाह हो गया है। वार्ड मैंबर रेशमा देवी ने प्रशासन से मांग की है कि शीघ्र बीपीएल से जुड़े मकान मालिक को तथा किराएदार को नुक्सान का उचित मुआवजा प्रदान किया जाए।


Vijay

Related News