स्कूलों ने नहीं दी जानकारी, बोर्ड ने 10 दिन के भीतर मांगी जानकारी

9/16/2020 12:40:00 PM

धर्मशाला (नवीन) : हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड की ओर से मुख्यमंत्री हरित विद्यालय अभियान के तहत स्कूलों में मेरा विद्यालय मेरी वाटिका परियोजना को सफल बनाने के लिए भूमि की सूचना प्रपत्र पर उपलब्ध करवाने बारे निर्देश दिए गए थे, परंतु अभी तक केवल 10-15 स्कूलों को छोड़कर अन्य स्कूलों से इस संदर्भ में कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई है। बोर्ड ने जिला कांगड़ा व मंडी के राजकीय वरिष्ठ/उच्च/निजी संबद्धता प्राप्त संस्थान के प्रधानाचार्य/मुख्याध्यापकों को 10 दिन के भीतर जानकारी उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए हैं। 

जानकारी के मुताबिक इस परियोजना के अंतर्गत चयनित स्कूलों (सरकारी/संबद्धता प्राप्त निजी विद्यालयों) में जिनके पास समुचित एरिया में भूमि हो, वन विभाग के सहयोग से चिन्हित संस्थानों में एक नर्सरी व एक नवग्रह वाटिका का निर्माण किया जाएगा। प्रथम चरण में जिला कांगड़ा तथा जिला मंडी के 100-100 संस्थानों का चयन किया जाएगा जिसमें यह योजना आरंभ होगी। इन चयनित संस्थानों के छठी से आठवीं तक के विद्यार्थियों को नवग्रह वाटिका के लिए एक-एक पौधा/पौधों की नर्सरी तैयार करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। जब पौधों की नर्सरी में पौधे तैयार हो जाएंगे तो उनमें से एक या 2 पौधे विद्यार्थियों को घर ले जाने के लिए भी दिए जा सकते हैं ताकि वह खुले संस्थान में इनकों लगा सके। संस्थान में खाली जगह है जहां पर नर्सरी व नवग्रह वाटिका तैयार हो सकती है तो 10 दिन के भीतर जानकारी उपलब्ध करवाई जाए।
 


prashant sharma

Related News