अब तो बीजेपी के पूर्व पार्टी सुप्रीमो ने भी माना कि अनुराग के कारण हारी दिल्ली : राणा

2/14/2020 4:14:06 PM

 

हमीरपुर : कांग्रेस विधायक राजेंद्र राणा ने कहा है कि मैं लगातार यह कहता आया हुं कि सांसद एवं राज्य वित्त कार्पोरेट मंत्री अनुराग ठाकुर राजनीति में खराब व्यवहार करते हैं। अपनी ही पार्टी में अपने विरोधियों को नीचा दिखाने का कोई मौका नहीं छोड़ते हैं। बात-बात पर झूठ बोलते हैं यहां तक कि न्यायालय में भी झूठे बयान देने के लिए चर्चा में रहे हैं। उनकी इस आदत वह राजसी अदा व मुद्रा को बीजेपी के छोटे से बड़े कार्यकर्ता व नेता तक जानते हैं लेकिन हाई प्रोफाइल नेता के खिलाफ बोलने से घबराते हैं। राणा ने कहा कि कई बीजेपी नेता व कार्यकर्ता जो उनके संपर्क में हैं उन्हें बताते हैं कि अनुराग ठाकुर के सांसद बनने से न कार्यकर्ताओं को कोई लाभ मिला न क्षेत्र को कोई फायदा हुआ और न ही पार्टी का कोई हित हुआ है।

अगर प्रदेश के खेल में राजनीति में उनके सांसद बनने का किसी को कोई लाभ हुआ है तो वह सिर्फ उन्हें खुद को ही हुआ है। शिमला में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से कैमरों के सामने मंच पर अभद्रता के बाद दिल्ली चुनाव में उन्होंने जो गोली और गाली की भाषा बोली है उस अमर्यादित भाषा को लेकर मैं पहले भी इंगित कर चुका हैं लेकिन अब तो बीजेपी के पूर्व सुप्रीमो व केन्द्रीय होम मिनिस्टर अमित शाह ने आधिकारिक बयान देकर मान लिया है कि सांसद अनुराग द्वारा दिल्ली चुनाव में गोली, गाली व गद्दारों जैसे नारे लगाने से बीजेपी की हार हुई है। जो यह प्रमाणित करता है कि सांसद अनुराग जैसे हाई प्रोफाइल व अहम से भरे लोगों के लिए राजनीति में कोई स्थान नहीं है। क्योंकि सांसद अनुराग इतने वर्षों में क्षेत्र के लिए तो कुछ बड़ा नहीं कर सके।

हां बड़ी-बड़ी हवाई बातें करके कभी रेल के नाम पर तो कभी खेल के नाम पर कभी ऐरोप्लेन के नाम पर तो कभी सी प्लेन के नाम पर जनता को गुमराह करके झूठी घोषणाएं करके ठगते रहे और सत्ता हासिल करने के बाद क्षेत्र की जनता के बीच खुद को नेता कम व सेलिब्रिटी ज्यादा साबित हुए हैं। राणा ने कहा कि सांसद अनुराग ठाकुर को कार्यकर्ताओं व सरकारी अमले से सम्राटों की तरह अपना सम्मान करवाना अच्छा लगता है और अब तक की राजनीति में अब तक वह यही करते आए हैं।

लेकिन अब संसदीय क्षेत्र की जनता के साथ-साथ प्रदेश बीजेपी की राजनीति भी उन्हें समझ चुकी है और अब पूर्व बीजेपी सुप्रीमो व होम मिनिस्टर अमित शाह के आधिकारिक बयान ने पूरी तरह साबित कर दिया है कि सिर्फ अपने अहम को साबित करने के लिए व मीडिया में चर्चाओं में रहने के लिए अनुराग ठाकुर किसी के खिलाफ भी अभ्रद भाषा का प्रयोग कर सकते हैं और इसी गोली, गाली व देश के लोगों को गद्दारों की श्रेणी में रखने वाले अनुराग ठाकुर जब दिल्ली जैसे प्रदेश में बीजेपी की हार का कारण बन सकते हैं तो ऐसे स्टार प्रचारक किसी भी चुनाव में किसी के लिए भी सही नहीं माने जा सकते हैं।


kirti

Related News