सितंबर में बुलाया जा सकता है हिमाचल प्रदेश का विधानसभा सत्र: मुख्यमंत्री

8/1/2020 12:30:41 PM

शिमला, 30 जुलाई (भाषा) हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्य विधानसभा का आगामी सत्र सितंबर में बुलाया जा सकता है।

ठाकुर ने यहां राजभवन में तीन नए मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह के बाद संवाददाताओं से कहा कि यदि राज्य में कोविड-19 वैश्विक महामारी का प्रकोप कम हो जाता है, तो सरकार सितंबर में विधानसभा का सत्र बुलाने पर विचार करेगी।

हिमाचल प्रदेश के कैबिनेट मंत्रियों के तौर पर पांवटा साहिब के विधायक सुखराम चौधरी, नूरपुर के विधायक राकेश पठानिया और घुमारवीं के विधायक राजिंदर गर्ग को बृहस्पतिवार को शामिल किया गया।
राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने राजभवन में आयोजित एक समारोह में नए मंत्रियों को पद की शपथ दिलाई। कार्यक्रम में कोविड-19 संबंधी सभी नियमों का पालन किया गया।

चौधरी और गर्ग ने हिंदी में शपथ ली, जबकि पठानिया ने अंग्रेजी में शपथ ली।

मुख्यमंत्री ने एक प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि बजट सत्र 23 मार्च को उस समय बीच में ही स्थगित कर दिया गया था, जब राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के केवल दो ही मामले थे।

उन्होंने कहा कि अब राज्य में संक्रमण के कुल 2,400 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं और करीब 1,050 लोग उपचाराधीन हैं। इन सभी बातों पर गौर करना होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नियमानुसार हर छह महीने में कम से कम एक बार सत्र बुलाना आवश्यक होता है।
उन्होंने कहा कि बजट सत्र 23 मार्च को स्थगित कर दिया गया था, यानी अगला सत्र 23 सितंबर से पहले बुलाया जाना चाहिए।

ठाकुर ने कहा, ‘‘आमतौर पर मानसून सत्र 15 अगस्त के बाद बुलाया जाता है। यदि संक्रमण के मामलों में कमी आती है, तो हम सितंबर में सत्र बुलाने पर विचार करेंगे।’’
उल्लेखनीय है कि मई में सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी कांग्रेस के 20 से अधिक विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार को ज्ञापन पत्र सौंपकर कोविड-19 संबंधी हालात पर चर्चा के लिए विधानसभा का विशेष सत्र बुलाए जाने की मांग की थी।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Related News