NIT के सहयोग से तकनीकी शिक्षा में सुधार लाएंगे इन 4 जिलों के पॉलीटैक्नीक कॉलेज

punjabkesari.in Friday, Feb 05, 2021 - 12:15 AM (IST)

हमीरपुर (ब्यूरो): इंजीनियरिंग के छात्रों के कौशल विकास और रिसर्च कार्य को बढ़ावा देने की कड़ी में राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) हमीरपुर ने वीरवार को 4 सरकारी पॉलीटैक्नीक कॉलेजों के साथ मैमोरैंडम ऑफ अंडरस्टैडिंग (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। पॉलीटैक्नीक कॉलेज बिलासपुर, पॉलीटैक्नीक कॉलेज हमीरपुर, जिला लाहौल-स्पीति के पॉलटैक्नीक कॉलेज उदयपुर (कैंप दफ्तर सुंदरनगर) और सुंदरनगर  पॉलीटैक्नीक कॉलेज के साथ हस्ताक्षरित एमओयू का मकसद प्रशिक्षण और रिसर्च कार्यक्रमों, एक-दूसरे की क्षमताओं का उचित प्रयोग, विचारों का आदान-प्रदान, अध्यापन विकास कार्यक्रम, वर्कशॉप और सैमीनारों के जरिए विशेषज्ञों के अनुभव का लाभ उठाकर विद्याॢथयों की सीखने की क्षमता और कौशल विकास में सहयोग करना है।

एनआईटी हमीरपुर के निदेशक प्रोफैसर ललित अवस्थी ने राजकीय पॉलीटैक्नीक कॉलेज के प्राचार्य आरके शर्मा, हमीरपुर पॉलीटैक्नीक कॉलेज के प्राचार्य दिनेश कुमार, उदयपुर पॉलीटैक्नीक कॉलेज के प्राचार्य अच्छर सिंह और सुंदरनगर पॉलीटैक्नीक कॉलेज की विभागाध्यक्ष अनीता जोशी के साथ अलग-अलग एमओयू पर हस्ताक्षर किए। इससे पहले विगत 15 जनवरी को एनआईटी हमीरपुर ने पॉलीटैक्नीक कॉलेज कांगड़ा, बिलासपुर और इंजीनियरिंग कॉलेज सुंदरनगर के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किए थे। 

विद्यार्थियों को यह होगा लाभ

एनआईटी हमीरपुर के सहभागी बने सरकारी पॉलीटैक्नीक कॉलेजों के विद्यार्थी व फैकल्टी एनआईटी के विशेषज्ञों के साथ सीधे वार्तालाप कर अपने विषयों से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी हासिल कर सकेंगे। इससे उन्हें भविष्य में रिसर्च कार्य में भी आसानी होगी और वे अपना हुनर भी निखार सकेंगे। इसके अलावा इन एमओयू का एक बड़ा लाभ यह होगा कि प्रतिभागी कॉलेजों के स्नातकोत्तर व पीएचडी के विद्यार्थियों व अध्यापक वर्ग को अपने-अपने क्षेत्र में समान विषयों तथा प्रोजैेक्ट्स पर मिलकर काम करने का मौका भी मिलेगा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vijay

Related News

Recommended News